राजनीति

'आप' नेताओं पर बरसे विश्वास, कहा- जवाब नहीं देंगे, आपत्ति अपने घर रखें

सतीश वर्मा, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
77
| जून 18 , 2017 , 20:30 IST | नई दिल्ली

आम आदमी पार्टी में मचे घमासान के बीच रविवार को कुमार विश्वास ने अपने खिलाफ हो रही बयानबाजी पर भी पलटवार किया। राजस्थाव निधानसभा चुनाव की बैठक को लेकर पार्टी की बैठक में कुमार विश्वास ने कहा कि अयोध्या के युवराज सबसे शालीन विनम्र थे, लेकिन उनका निष्कासन महलों के षड्यंत्रकारियों की ओर से हुआ था। कुमार ने राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को लेकर दिए गए अपने बयान पर भी सफाई दी।

कुमार विश्वास ने कहा- हम जवाब नहीं देंगे

कुमार विश्वास ने अपने खिलाफ बन रहे माहौल पर सीधे कोई जवाब नहीं दिया। उन्होंने कहा कि,

हमारे खिलाफ जितना दुष्प्रचार करना है, हम जवाब नहीं देंगे। वह बाकी चीजें भी करेंगे, चरित्र हनन की भी कोशिश करेंगे। हमें चुनौती का सामना करना है और इस पर विचलित नहीं होना है

उन्होंने कहा कि हम वसुंधरा राजे के कुशासन के खिलाफ सड़कों पर उतरेंगे, लेकिन वह अपने निजी जीवन में क्या करती हैं, हम इस पर नहीं बोलेंगे।

कुमार ने दो टूक कहा कि,

इस पर जिसे आपत्ति है, वह अपनी आपत्ति अपने घर रखे

निजी हमलों को लेकर कुमार ने पीएम मोदी का उदाहरण दिया। कुमार ने कहा कि ,
पीएम मोदी ने दिल्ली चुनाव के दौरान हमें अराजक और नक्सली कहा, बिहार में नीतीश के डीएनए पर सवाल उठाया तो जनता ने उन्हें जवाब दिया।

राजस्थान चुनाव की तैयारियों का लिया जायजा

बता दें कि दिल्ली में कुमार विश्वास ने राजस्थान विधानसभा चुनाव को लेकर मीटिंग की। कुमार ने चुनावी तैयारियों के लिए पर्यवेक्षकों के साथ मीटिंग की। कुमार इशारों ही इशारों में पार्टी नेतृत्व पर बरसे और कार्यकर्ताओं से दिल्ली के घटनाक्रम से प्रभावित न होने की अपील की।

चुनाव तैयारियों का जायजा लेने के लिए खुद कुमार विश्वास 25 जून को राजस्थान जाएंगे और वहां कार्यकर्ताओं से मुलाकात कर संगठन की जमीनी हकीकत का जायजा लेंगे।

बाहरी नेताओं को आप से टिकट देने पर सफाई

बाहरी नेताओं को आप से टिकट देने पर कुमार ने कहा कि बाहर से गंगा नदी में कई नाले गिरे। दूसरे दलों से पांच मिनट पहले नेता लेकर अगर चुनाव जीत भी जाएंगे तो आप आंदोलन हार जाएंगे। अगर आप लड़कों के साथ चुनाव हार भी गए तो आप आंदोलन जीत जाएंगे। कुमार विश्वास ने कहा कि हम बैक टू बेसिक पर लौटेंगे और मूल स्वराज का पालन करेंगे।

Kumar


कमेंट करें