बिज़नेस

नोटबंदी के दौरान 2 लाख लोगों की नौकरियां गई, ये थी वजह

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
159
| मई 4 , 2017 , 16:14 IST | नई दिल्ली

देश में रोजगार की कमी के बावजूद चौंका देने वाले आकड़े सामने आए है। लेबर ब्यूरो की हालिया रिपोर्ट के मुताबिक अक्टूबर 2016 से जनवरी 2017 के बीच में करीब 2 लाख लोगों की नौकरियां छिन गई हैं। बता दें कि इनमें 1.52 लाख कैजुअल और 46 हजार पार्टटाइम नौकरियां गई है। यह आकड़े इसलिए भी चौंका देने वाले है क्योंकि उन दिनों देश में नोटबंदी लागू की गई थी। 8 नवंबर की शाम प्रधानमंत्री मोदी ने देश को संबोधित करते हुए 500 और 1000 रुपए के नोटबंद कर दिए थे।

BPO62--621x414

रिपोर्ट की माने तो सबसे ज्यादा नौकरियां मैन्युफैक्चरिंग वालों को गंवानी पड़ी। उसके बाद आईटी व बीपीओ में काम कर रहे लोगों को अपनी नौकरियां गंवानी पड़ी। दरअसल, मैन्युफैक्चरिंग में कुल 1.13 लाख और आईटी व बीपीओ में 20 हजार कैजुअल नौकरियां गई।

Article-2531931-1A5CA1D500000578-356_634x382

वहीं जनवरी से मार्च 2017 के आकड़ों की माने तो सभी सेक्टरों में मिला-जुला प्रभाव नजर आया। पिछली तिमाही के मुकाबले कंस्ट्रक्शन सेक्टर में नेगेटिव, तो वहीं रेस्टोरेंट में कोई बदलाव नहीं देखा गया। हालांकि इस बार के आकड़ो की माने तो 1 लाख 39 हजार रेग्लुयर और 1 लाख 24 हजार अस्थाई कर्मचारियों को नौकरियां मिली है। दरअसल, पिछली तिमाही के आकड़े इसलिए महत्वपूर्ण है क्योकि नोटबंदी के दौरान कंपनियों ने अपने कर्मचारी कम कर दिए।


कमेंट करें