राजनीति

बिहार का सियासी पारा चढ़ा, नीतीश लेंगे बड़ा फैसला या तेजस्वी देंगे इस्तीफा!

सतीश वर्मा, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
170
| जुलाई 9 , 2017 , 15:41 IST | पटना

लालू यादव और उनके परिवार पर पड़ रहे लगातार सीबीआई छापे के बाद बिहार का सियासी तापमान अचानक से बढ़ गया है। महागठबंधन के तीनों पार्टनर जदयू- आरजेडी और कांग्रेस में खलबली मच गई है। दरअसल बीजेपी लगातार नीतीश सरकार पर डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव के इस्तीफे को लेकर राजनीतिक दवाब बना रही है। बता दें कि सीबीआई ने तेजस्वी यादव के खिलाफ बेनामी संपत्ति अर्जित करने के मामले में केस दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

Lt

लालू अब सत्ता को खोना नहीं चाहते हैं

लालू की असल परेशानी तो अपने राजनैतक वारिस को लेकर है। सीबीआई ने लालू के साथ-साथ उनकी पत्नी राबड़ी देवी और छोटे बेटे तेजस्वी यादव के उपर भी केस दर्ज कर दिया है। हालांकि,मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इस पूरे मामले में चुप हैं। लेकिन, माना जा रहा है कि अब अपनी साफ-सुथरी छवि की दुहाई देने वाले नीतीश कुमार के लिए अपने डिप्टी सीएम को कैबिनेट में रख पाना मुश्किल होगा।

10 को आरजेडी को तो 11 को जेडीयू की बैठक

लालू फैमिली पर लगातार हो रहे सीबीआई और ईडी अटैक के बाद आरजेडी और जेडीयू में अब बैठकों का दौर शुरू हो गया है और आगे की रणनीति पर विचार किया जा रहा है। सबसे पहले 10 जुलाई को आरजेडी सुप्रीमो ने अपने आवास पर पार्टी के विधायक दल की बैठक बुलाई है। माना जा रहा है कि इस बैठक में लालू अपने छोटे बेटे और उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव पर कोई बड़ा फैसला ले सकते हैं।

Rjd

दूसरी ओर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी अपनी पार्टी की बैठक राजद की मीटिंग के ठीक अगले दिन बैठक बुलाई है। जेडीयू की बैठक में सांसदों और विधायकों के साथ जिला प्रतिनिधि भी शामिल होंगे। कहा जा रहा है कि जेडीयू की बैठक में महागठबंधन को लेकर आगे की रणनीति पर विचार होगा।

डिप्टी सीएम के लिए तेज प्रताप के नाम पर हो सकता विचार

अगर लालू तेजस्वी का इस्तीफा करवाते हैं तो ऐसे में अगला उप मुख्यमंत्री कौन होगा इसको लेकर भी नामों का कयास लगाया जा रहा है। सूत्रों के मुताबिक लालू अपने बड़े बेटे और स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव को उप मुख्यमंत्री बना सकते हैं या फिर सरकार में आरजेडी कोटे से वित्त मंत्री अब्दुल बारी सिद्दीकी को यह जिम्मेदारी सौंपी जा सकती है। लालू के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव इस वक्त नीतीश सरकार में स्वास्थ्य मंत्री हैं। तेज प्रताप यादव के ऊपर भी कई मामलों में अनियमितता के आरोप लगे हैं। ऐसे में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के ऊपर लालू यादव के बटों पर कार्रवाई करने का दबाव बन रहा है।

Tej

लेकिन, लालू की परेशानी की वजह सिर्फ इतनी ही नहीं है। लालू की बड़ी बेटी और राज्यसभा सांसद मीसा भारती भी लालू की राजनैतिक विरासत को संभालने की कोशिश करती रही हैं। लालू के दोनों बेटों के राजनीति में आने के पहले से ही मीसा भारती राजनीति में उतर चुकीं थीं। उन्होंने पिछले लोकसभा चुनाव के वक्त पाटलिपुत्र सीट से लोकसभा चुनाव लड़ा था।

Nitish

सीएम नीतीश ने नहीं दी अभी तक कोई प्रतिक्रिया

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार राजगीर प्रवास के बाद रविवार को पटना पहुंच गए हैं। उनके राजगीर प्रवास के दौरान पटना में आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के आवास पर सीबीआई का छापा पड़ा, लेकिन उन्होंने अभी तक इस पर अपनी कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। सोमवार को आरजेडी ने विधायक दल की बैठक बुलाई है। माना जा रहा है उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के प्रति आस्था दिखाने के लिए ये बैठक बुलाई गई है. इसके बाद 11 जुलाई को जनता दल यू ने भी अपने सभी राज्य, जिला और प्रखंड स्तरीय नेताओं की बैठक बुलाई है। हांलाकि यह कार्यक्रम पहले से ही तय था।

 


कमेंट करें