नेशनल

राजकोट में इंसानियत शर्मसार, बेटे ने बीमार मां को चौथी मंजिल से नीचे फेंककर मार डाला

अर्चित गुप्ता | 0
755
| जनवरी 5 , 2018 , 11:58 IST | राजकोट

जिस मां की उंगली पकड़ कर बेटे ने चलना सीखा था आज उसी बेटे ने अपनी मां को छत से फेंक दिया। यह दिल दहला देंने वाली घटना राजकोट की है, जहां एक बेटे ने अपनी बीमार मां को छत से फेंक दिया। राजकोट के गांधीग्राम के दर्शन एवेन्यू में जयश्रीबेन विनोदभाई नाथवानी की बिल्डिंग की छत से गिरने से मौत हो गई। घटना दो माह पूर्व की है। लेकिन सीसीटीवी फुटेज देखने के बाद इस वारदात के बारे में अब पता चला है।

 मां को छत से फेंक दिया

आरोपी बेटा राजकोट के मोदी फार्मेसी कॉलेज में अस्सिटेंट प्रोफेसर है। सीसीटीवी में बेटा अपनी मां को छत पर ले जाता दिख रहा है। पहले हर किसी को ये लगा कि मां छत से गिर गईं और उनकी मौत हो गई। लेकिन मां की मौत के कुछ दिन बाद पुलिस को एक गुमनाम चिट्ठी मिली और फिर जब सीसीटीवी देखा गया तो सबकुछ साफ हो गया।

बता दें कि जयश्रीबेन को ब्रेन हैमरेज था और वे चल-फिर नहीं पाती थीं। मां की देखभाल और इलाज से तंग आकर बेटे ने अपनी मां को छत से फेंक दिया। आरोपी ने पूछताछ के दौरान पुलिस को गुमराह करने की कोशिश की। सख्ती से पूछे जाने के बाद सच्चाई सामने आ गई।

राजकोट के डीसीपी करनराज वाघेला ने कहा कि संदीप पहले गोलमोल जवाब देकर गुमराह करने की कोशिश कर रहा था। उसने बताया कि वो मां को पूजा करने के लिए छत पर ले जा रहा था।

पुलिस ने पूछा कि मां ने ढाई फुच ऊंची रेलिंग कैसे पार की तो उसकी बोलती बंद हो गई। पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो उसने बात कुबूल कर ली। आरोपी ने कहा कि वो अपनी मां की बीमारी से परेशान था। सख्ती से पूछने पर आरोपी संदीप ने बताया कि मां चल फिर नहीं पाती थी उनकी देखभाल करने में उसे परेशानी हो रही थी लिहाज़ा मां से छुटकारा पाने के लिए उसने मां का क़त्ल करने की योजना बनाई और बूढ़ी बीमार मां को छत पर ले जाकर चौथी मंजिल से नीचे फेंक दिया। 


कमेंट करें