नेशनल

रसोई गैस पर GST की मार, एलपीजी सिलेंडर 32 रुपये तक महंगा

अमरेन्द्र कुमार,न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
758
| जुलाई 3 , 2017 , 18:23 IST | नयी दिल्ली

सरकार दावा कर रही है कि जीएसटी से महंगाई बढ़ेगी नहीं, बल्कि घटेगी। लेकिन आम लोगों पर जीएसटी का असर दिखने लगा है। एलपीजी गैस सिलेंडर खरीदने के लिए लोगों को अपनी जेब अब ज्यादा ढीली करनी पड़ेगी। जीएसटी लागू किए जाने और सब्सिडी में की गई कटौती से गैस सिलेंडर 32 रुपए तक महंगा हो गया है। 

एक जुलाई से जम्मू-कश्मीर को छोड़कर पूरे देश में लागू जीएसटी के तहत चूंकि पेट्रोलियम को नहीं रखा गया है। लेकिन केंद्र सरकार ने उसी दिन साफ कर दिया था कि घरेलू और वाणिज्यिक एलपीजी जीएसटी के तहत कर के दायरे में होगा, जो अब पूरे देश में प्रभावी हो चुका है। हालांकि जीएसटी में एलपीजी को सबसे निचले स्लैब 5 फीसदी कर के तहत रखा गया है।

नए नियम के मुताबिक जो ग्राहक सब्सिडी के पात्र हैं, उन्हें जून तक दी गई 119.85 रुपए की सब्सिडी में कटौती की गई है। नई अधिसूचना के मुताबिक, अब सिर्फ 107 रुपए ही उनके बैंक खाते में आएंगे। फलस्वरूप उपभोक्ताओं को अब प्रति सिलेंडर 32 रुपये ज्यादा भुगतान करने होंगे।

Non-subsidised-cooking-gasLPGrefills

जीएसटी लागू होने से पहले: 

दरअसल जीएसटी लागू होने से पहले ज्यादातर राज्य एलपीजी पर टैक्स नहीं लगाते थे, जबकि कुछ राज्य 2 से 4 फीसदी के बीच वैट लगाते थे। वहीं घरेलू एलपीजी पर सीमा शुल्क और उत्पाद शुल्क नहीं लगता था।

जीएसटी लागू होने के बाद:

 जीएसटी लागू होने के बाद जिन राज्यों में एलपीजी पर कोई कर नहीं था, वहां प्रति सिलिंडर एलपीजी की कीमत 12 से 15 रुपये बढ़ जाएगी। जबकि जीएसटी लागू होने के बाद वाणिज्यिक एलपीजी की कीमत घट गई है, क्योंकि इसे जीएसटी के तहत 18 फीसदी टैक्स स्लैब में रखा गया है।

जीएसटी को लेकर देश के कई हिस्सों में विरोध-प्रदर्शन हुए। ऐसे में रसोई गैस की कीमत में एकमुश्त 32 रूपए का इजाफा जीएसटी आंदोलन के लिए हथियार बन सकता है। साथ ही आने वाले मॉनसून सत्र में विपक्ष इस मुद्दे को मजबूती के साथ उठा सकता है।


कमेंट करें