इंटरनेशनल

फ्रांस: राष्ट्रपति चुनाव के नतीजे से पहले हैकिंग स्कैंडल से मचा हड़कंप

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
129
| मई 6 , 2017 , 17:29 IST | पेरिस

फ्रांस के राष्ट्रपति उम्मीदवार इमैनुअल मैक्रोन की कैंपेन टीम ने एक बड़े 'हैकिंग अटैक' का दावा किया है। चुनाव के 24 घंटे पहले ही कई गुप्त दस्तावेजों और अकाउंटिंग पेपर्स के ऑनलाइन रिलीज हो जाने के बाद इसका पता चल पाया। मैक्रों के स्टाफ का कहना है कि इस तरह से दस्तावेजों का लीक होना लोकतांत्रिक व्यवस्था पर हमला है। इस तरह की घटना अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव के कैंपेन के वक्त भी सामने आई थी।

Macron 1

ये दस्तावेज शुक्रवार की देर रात तब लीक हुए जब रविवार को होने वाले चुनाव के लिए मैक्रों और उनके धुर विरोधी मैरीन ल पेन ने चुनाव प्रचार खत्म किया। बता दें कि यूएस में राष्ट्रपति चुनाव के दौरान हिलरी क्लिंटन ने अपनी हार के लिए रूस द्वारा की गई कथित हैकिंग को जिम्मेदार ठहराया था।

मैक्रोन ने कहा- लीक किए गए सारे दस्तावेज कानूनन सही

मैक्रों की टीम ने कहा कि ये फाइलें कई हफ्ते पहले ही चुरा ली गईं थीं। उनका कहना है कि कैंपेन के शुरुआत से ही लगातार मैक्रों पर साइबर अटैक करने की कोशिश हो रही है। टीम के जारी बयान में कहा गया है कि इस तरह से लीक किए गए सभी दस्तावेज कानूनी तौर पर सही हैं और इसमें कैंपेन की रूपरेखा का उल्लेख है।

Lee pen

विकीलीक्स ने की हैकिंग की निंदा

विकीलीक्स ने भी ट्विटर पर इन दस्तावेजों की निंदा की है। विकीलिक्स ने ट्वीट में कहा है कि 'इसमें 24 अप्रैल तक के कई हजार मेल, फोटो अटैच हैं।' इससे संकेत मिलता है कि डेटा लीक होने में वीकीलीक्स का हाथ नहीं है।

बता दें कि फ्रांस में रविवार को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव के मद्देनजर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। राष्ट्रपति के उम्मीदवार के रूप में इमैनुअल मैक्रों का मुकाबला मैरीन ल पेन से है।

Macron 2


कमेंट करें