नेशनल

शिव'राज' में किसानों पर बरसीं लाठियां, सूखे के मामले पर पुलिस ने की पिटाई

अर्चित गुप्ता | 0
104
| अक्टूबर 4 , 2017 , 18:38 IST | टीकमगढ़

मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ जिले को सूखाग्रस्त घोषित करने की मांग को लेकर किसानों का प्रदर्शन उग्र हो गया। उग्र किसानों को काबू करने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया और आंसूगैस के गोले छोड़े। इस घटना में 25 कांग्रेसी कार्यकर्ता और आठ पुलिसकर्मियों को आंशिक चोटें आई हैं। कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर पुलिस पर पथराव करने का भी आरोप लगा है। जिला कलेक्टर अभिजीत अग्रवाल ने बताया कि पुलिस ने अपने बचाव में लाठीचार्ज किया, क्योंकि कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पुलिस पर पथराव करने के साथ-साथ खाली बोतलें एवं चप्पल भी फेंक रहे थे।

इस पथराव में आठ पुलिसकमियों को चोटें आई हैं। सभी का प्राथमिक उपचार कराया गया है। खबर के मुताबिक पुलिस और किसानों के बीच हुए इस लाठीचार्ज के बाद किसानों की दो ट्रालियां पुलिस ने रोक लीं और उन्हें जबरन थाने ले आये जहां उनके कपड़े उतार कर उन्हें पीटा गया और गाली-गलोच की। आपको बता दें कि ज़िले को सूखाग्रस्त घोषित करने के अलावा दूसरी कई मांगों को लेकर किसान कलेक्टर को ज्ञापन देने की मांग कर रहे थे। एसडीएम ज्ञापन लेने के लिए गए, लेकिन वहां पर मौजूद कांग्रेस के कार्यकर्ता कलेक्टर को ज्ञापन देने की मांग पर अड़ गए।

एएसपी ने कुछ प्रमुख नेताओं को कलेक्ट्रेट के अंदर जाने की इजाजत दी। कार्यालय के गेट पर पहुंचकर कांग्रेसियों ने कलेक्टर को नीचे बुलाया, लेकिन वे नहीं आए, तो उन लोगों ने नारेबाजी शुरू कर दी। कांग्रेस नेता एवं मध्यप्रदेश के पूर्व मंत्री यादवेन्द्र सिंह ने बताया कि पुलिस द्वारा की गई लाठीचार्ज और आंसूगैस छोड़ने से 25 कांग्रेसी कार्यकर्ता आंशिक रूप से घायल हुए हैं। उन्हें जिला अस्पताल में ले जाया गया और उपचार देने के बाद छोड़ दिया गया है।


कमेंट करें