लाइफस्टाइल

दिल्ली का वो गोल चक्कर...जहां लगती है हुनर की मंडी!

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
220
| मई 30 , 2017 , 17:42 IST | नई दिल्ली

"अगर तू ज़िन्दा है तो हल्ला बोल , हल्ला बोल " "महाराज ये दूत नहीं यमदूत है " ये लड़का मुझे छेड़ रहा है आप सब चुप हैं , घिन आती मुझे इस समाज से " ऐसे और बहुत से संवाद आपको सुनने को मिलेंगे जब शाम के समय आप नई दिल्ली में लुटियन जोन स्थित मंडी हाउस गोलचक्कर से गुज़रेंगे। इस गोलचक्कर पर छोटा लेकिन ख़ूबसूरत सा गार्डन है जहाँ के फूल पौधे रोज़ रूबरू होते हैं बेहतरीन नाटकों और नए उभरते कलाकारों के हुनर से। यहाँ नाटकों का अभ्यास करते नौजवान एक अलग ही दुनिया में होते हैं, पास से गुज़रती हुई गाड़ियाँ उनका शोर लोगों की चहल पहल एक पल के लिए भी उनका ध्यान भंग नहीं करती हैं ।

Practicing-college-hindustan-during-march-kirori-students_fc1d1de6-1e85-11e7-beb7-f1cbdf0743d8

श्री राम सेंटर, राष्ट्रीय नाट्य विधालय इस गोलचक्कर के दो कोने पर हैं, और इन कलाकारों के प्रेरणा स्रोत भी मंडी हाउस गोलचक्कर पर निजी तौर पर अलग अलग ग्रुप अपने नाटकों का रोज़ाना अभ्यास करते हैं फिर एक तय जगह और समय पर इनका मंचन करते हैं।

Khoj-a-search_3b8a8868-0673-11e7-a7e1-96e3e1e31959

आप रोज़ना शाम को आप पास के ही सभागारों में बेहतरीन नाटकों का मंचन भी देख सकते हैं कमानी , श्रीराम सेंटर , एनएसडी जाकर शानदार अदायगी और निर्देशन का लुत्फ उठा सकते हैं।  इन नाटकों को देखने के लिए ५०, १०० और २०० रूपये अमूमन टिकटों कीमत ये ही होती है। गर्मियों की छुट्टियाँ हैं तो किसी शाम परिवार के साथ इस गोलचक्कर के चक्कर जरुर लगाइए और रूबरु होइए भविष्य के नाट्य कलाकारों से।





 

 

55794-hrrgqwhcze-1492138867


कमेंट करें

अभी अभी