राजनीति

महबूबा की BJP को धमकी- 'PDP को तोड़ने की कोशिश की तो और सलाउद्दीन पैदा होंगे'

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1471
| जुलाई 13 , 2018 , 13:59 IST

पीडीपी में पड़ रही फूट के बीच महबूबा मुफ्ती ने इशारों-इशारों में बीजेपी को कड़ी चेतावनी दे दी है। उनका कहना है कि अगर दिल्ली ने पीडीपी को तोड़ने की कोशिश की तो और सलाहूद्दीन पैदा होंगे। उन्होंने कहा, 'यदि दिल्ली ने साल 1987 की तरह लोगों से उनके मतदान का अधिकार छीना, यदि उसने बंटवारे की कोशिश की और उस समय की तरह हस्तक्षेप करने की कोशिश की तो मुझे लगता है कि 1987 की तरह ही हिजबुल मुजाहिद्दीन के प्रमुख सैयद सलाहूद्दीन और यासिन मल्लिक पैदा होंगे।'

दरअसल, बीजेपी के पीडीपी से गठबंधन वापस लेने के बाद से ही आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया था। बीजेपी के पीडीपी से समर्थन वापस लेने के बाद से ही दोनों पार्टियों के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है। वहीं बीजेपी पर पीडीपी के विधायकों को तोड़ने का भी आरोप लग रहे हैं। वहीं पीडीपी में बगावत के गंभीर संकेत मिल रहे हैं और महबूबा ने बगावती नेताओं पर कार्रवाई भी शुरू कर दी है। बगावती नेताओं पर ऐक्शन लेते हुए पीडीपी ने विधान परिषद सदस्य यासिर रेशी को बांदीपुरा जिला अध्यक्ष पद से बर्खास्त कर दिया। यासिर रेशी उन पीडीपी नेताओं में से एक हैं जिन्होंने सार्वजनिक रूप से महबूबा मुफ्ती की आलोचना की थी।

गौरतलब है कि बीजेपी ने पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) के साथ मिलकर तीन साल तक जम्मू और कश्मीर में गठबंधन सरकार चलाई थी। इस दौरान महबूबा मुफ्ती को मुख्यमंत्री बनाया गया था। वहीं बाद में 9 जून को भाजपा ने पीडीपी से समर्थन वापस ले लिया था। तब से राज्य में राज्यपाल शासन लागू है।

87 सदस्यीय जम्मू और कश्मीर विधानसभा में सत्ता हासिल करने के लिए जरूरी सदस्यों के जादुई आंकड़े किसी भी पार्टी के पास नहीं हैं। सदन में, पीडीपी के पास 28 विधायक, बीजेपी के पास 25 विधायक हैं और इसे पीपल्स कांफ्रेंस के दो विधायकों और लद्दाख के एक विधायक का समर्थन प्राप्त है। राज्य में सरकार बनाने के लिए किसी भी पार्टी को 44 विधायकों के समर्थन की जरूरत है।


कमेंट करें