राजनीति

साबरमती आश्रम से मीरा शुरू करेंगी प्रचार, बोलीं जात-पात को जमीन में गाड़ दें

सतीश वर्मा, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
123
| जून 27 , 2017 , 15:29 IST | नई दिल्ली

विपक्ष की राष्ट्रपति उम्मीदवार मीरा कुमार ने मंगलवार को प्रेस को संबोधित किया। मीरा कुमार ने कहा कि विपक्षी पार्टियों ने सर्वसम्मति से मुझे राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाने का फैसला लिया। विपक्षी दलों की एकता समान विचारधारा पर आधारित है।

मीरा कुमार ने कहा कि लोकतांत्रिक मूल्यों, पारदर्शिता, प्रेस की आजादी और गरीब का कल्याण हमारी विचारधारा के अंग हैं, इनमें मेरी गहरी आस्था है। उन्होंने कहा कि इस चुनाव में मैं इस विचारधारा पर ही राष्ट्रपति चुनाव लडूंगी।

मीरा कुमार ने कहा कि मैंने निर्वाचक मंडल के सभी सदस्यों को पत्र लिखकर समर्थन करने की अपील की है, उनके सामने इतिहास रचने का अवसर है।

जात-पात पर क्या बोलीं मीरा

मीरा कुमार ने कहा कि मैं अपना प्रचार साबरमती आश्रम से शुरू करुंगी। उन्होंने कहा कि बहुत जगह ये चर्चा है कि दो दलित आमने-सामने हैं। हम अभी भी ये आकलन कर रहे हैं कि समाज किस तरह सोचता है। जब उच्च जाति के लोग उम्मीदवार थे, तो उनकी जाति की चर्चा नहीं होती थी। उन्होंने कहा कि जाति को गठरी में बांधकर जमीन में गाड़ देना चाहिए, और आगे बढ़ना चाहिए।

उन्होंने कहा कि यह विचाराधारा गरीबी का अंत, जाति व्यवस्था का विनाश, प्रेस की आजादी की बात करती है। मैंने निर्वाचक मंडल के सभी सदस्यों को पत्र लिखा है। उनसे समर्थन मांगा है। उनसे अनुरोध किया है कि उनके सामने ये अद्वितीय अवसर है। सभी तरफ से ध्यान हटाकर अंतर्आत्मा की आवाज पर ध्यान देना चाहिए।

सुषमा स्वराज के हालिया ट्वीट पर क्या बोलीं मीरा

विपक्ष को लेकर मीरा कुमार के रवैये के बारे में सुषमा स्वराज के हालिया ट्वीट्स पर पूर्व स्पीकर ने कहा- "मैं जिस लोकसभा की स्पीकर थीं, उसके अंतिम सत्र के अंतिम दिन सभी दलों के नेताओं ने अपने-अपने समापन भाषण दिए जो रिकॉर्ड हैं। चाहे पक्ष हो या विपक्ष,सभी ने मेरी कार्यशैली की सराहना की थी।

रामनाथ कोविंद बनाम मीरा कुमार

रामनाथ कोविंद: सादगीभरी छवि, कानून के जानकार, संविधान की समझ (बिहार के गवर्नर रहे), कैंडिडेट के तौर पर दलित चेहरा। दो चुनाव लड़े, लेकिन हार गए।

मीरा कुमार: साफ-सुथरी छवि, कानून की जानकार, संविधान की जानकारी (लोकसभा स्पीकर रहीं)। विदेश नीति की जानकारी (इंडियन फॉरेन सर्विस में रहीं)। दलित चेहरा और पूर्व डिप्टी पीएम जगजीवन राम की बेटी। रामविलास पासवान और मायावती जैसे बड़े दलित लीडर्स को चुनाव में हराया। करोलबाग से 3 बार MP भी रहीं।


कमेंट करें