नेशनल

रोहिंग्या मुसलमानों को देश से बाहर निकालने की तैयारी में केन्द्र सरकार

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
159
| अप्रैल 4 , 2017 , 14:47 IST | नई दिल्ली

केंद्र की मोदी सरकार रोहिंग्या मुसलमानों को लेकर जल्द ही कोई बड़ा फैसला ले सकती है। बीते कुछ सालों में म्यांमार के आकर भारत में अवैध तरीके से बसे हजारों रोहिंग्या मुस्लिमों को लेकर केंद्र सरकार सख्त है। जम्मू सहित कई शहरों में अवैध रूप से बसे रोहिंग्या मुस्लिमों को केंद्र सरकार गिरफ्तार कर वापस म्यांमार भेजने की योजना बना रही है।


आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार म्यामांर में जारी हिंसा के बाद से अब तक करीब 40,000 रोहिंग्या मुस्लिम भारत में आकर शरण ले चुके हैं। ये लोग समुद्र, बांग्लादेश और म्यामांर सीमा से लगे चीनी इलाके के जरिए घुसपैठ करके भारत में घुसे हैं। सोमवार को गृहमंत्री ने अधिकारियों के साथ जम्मू-कश्मीर में रोहिंग्या मुसलमानों और घाटी में हिंसक हालात को लेकर बैठक की है।


बताया जा रहा है कि भारत में सबसे ज्यादा रोंहिग्या मुस्लिम जम्मू में बसे हैं, यहां करीब 10,000 रोंहिग्या मुस्लिम रहते हैं। हालांकि संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार संगठन के आंकड़ों के मुताबिक फिलहाल देश में 14,000 रोहिंग्या मुस्लिम शरणार्थी रहते हैं।

 

बता दें कि म्यांमार सरकार ने 1982 में राष्ट्रीयता कानून बनाया था जिसमें रोहिंग्या मुसलमानों का नागरिक दर्जा खत्म कर दिया गया था। जिसके बाद से ही म्यांमार सरकार रोहिंग्या मुसलमानों को देश छोड़ने के लिए मजबूर करती आ रही है। म्यांमार में एक अनुमान के मुताबिक़ 10 लाख रोहिंग्या मुसलमान हैं। इन मुसलमानों के बारे में कहा जाता है कि वे मुख्य रूप से अवैध बांग्लादेशी प्रवासी हैं।


कमेंट करें