नेशनल

मशहूर सिदी मस्जिद में शिंजो आबे के गाइड बने पीएम मोदी! जानें इस मस्जिद का महत्व

ललिता सेन, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
162
| सितंबर 13 , 2017 , 19:36 IST | अहमदाबाद

भारत के 2 दिवसीय दौरे पर आए जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे बुधवार को अहमदाबाद की मशहूर सिदी सैयद मस्जिद गए। यहां पीएम मोदी शिंजो आबे के गाइड बने नजर आए।प्रधानमंत्री मोदी खुद जापानी पीएम शिंजो आबे को सिदी सैयद मस्जिद की अहमियत और इतिहास बता रहे हैं। यह मस्जिद संस्कृति और खूबसूरती का मिश्रण है।

बता दें कि ऐसा पहली बार हुआ है जब पीएम मोदी देश की किसी मस्जिद में गए हैं। इससे पहले 2015 में यूएई के दौरे के दौरान मोदी अबु धाबी की शेख जायद मस्जिद गए थे। तब पीएम मोदी अबु धाबी के किंग के साथ मस्जिद में घूमे थे। 

पीएम शिंजो आबे के कार्यक्रम में इस मस्जिद को शामिल करने के पीछे खास वजह है। ये मस्जिद गुजरात में 16वीं शताब्दी में बनी है। पीएम मोदी ने इस मस्जिद के आर्किटेक्चर और इतिहास से जुड़ी सारी जानकरियां आबे को पहले ही भिजवा दी थी। बता दें कि, पीएम मोदी आबे को भारत की इस धरोहर की अहमियत और इतिहास बताना चाहते थे, इसलिए जापानी पीएम के कार्यक्रम में इस मस्जिस को भी जोड़ा गया।

MASJID

सिदी मस्जिद की खासियत

सन् 1573 में बनी मस्जिद 'सिदी सैय्यद की जाली' के नाम से विख्यात है। मस्जिद इसमें लगी 10 जालीदार खिड़कियों के लिए जानी जाती है। ये 500 साल पुरानी मस्जिद है। यहां मार्बल से बने जालीदार रोशनदान और खिड़कियां हैं जो दुनियाभर में मशहूर हैं। मस्जिद की इमारत पीले पत्थरों से बनी है, जो इंडो-इस्लामिक वास्तुकला पर आधारित है। ब्रिटिश काल में सरकारी ऑफिस के रूप में इस मस्जिद का इस्तेमाल किया जाता था। इस मस्जिद की एक और खास बात है वो ये कि ढलते सूरज की किरणें मस्जिद की जाली से निकलती हैं, तो वो नजारा अद्भुत होता है। ये मस्जिद नक्काशी के मामले में दुनिया की शीर्ष मस्जिदों में शुमार होती हैं।


कमेंट करें