नेशनल

मुंबई की बारिश में नौसेना ने कायम की मिसाल, फंसे लोगों को मुहैया करा रही खाना

श्वेता बाजपेई, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
173
| अगस्त 30 , 2017 , 15:01 IST | मुंबई

सपनों की नगरी मुंबई में बारिश के चलते लोगों का जीवन अस्त व्यस्त हो गया है। सड़कें मानो नदी बन गयी हो हर तरफ बस पानी ही पानी नज़र आ रहा है। बारिश के चलते लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। जलभराव की वजह से मुंबई, थाने और नवी मुंबई के कई इलाके सड़क और रेल मार्ग से कट गए हैं। 

जहां एक ओर यह भयावक मंज़र देखने को मिल रहा है वहीं दूसरी और नौसेना इंसानियत की एक नई मिसाल कायम कर रही है। नौसेना ने मुंबई में विभिन्न स्थानों पर सामुदायिक रसोई और भोजन के काउंटर खोले हैं ताकि भारी बारिश के कारण जहां तहां फंसे यात्रियों को राहत पहुंचाई जा सके। नौसेना के प्रवक्ता ने कहा, भारतीय नौसेना आपके लिए, कहीं भी कभी भी हर समय।

नौसेना के प्रवक्ता ने बताया, चर्चगेट, भायखला, परेल, सीएसटी, वर्ली और तारदेव, मुंबई सेंट्रल, दादर, मानखुर्द, चेंबूर, मलाड तथा घाटकोपर में खोली गई सामुदायिक रसोइयों से भोजन उपलब्ध करवाया जा रहा है।

मुंबई में विभिन्न स्थानों पर इन सामुदायिक रसोइयों को इसलिए खोला गया है ताकि जहां तहां फंसे यात्रियों को राहत पहुंचाई जा सके। उन्होंने कहा, भारतीय नौसेना आपके लिए, कहीं भी कभी भी हर समय।

मुंबई में भारी बारिश के चलते फंसे मुंबईकरों के लिए पश्चिमी नौसेना कमान ने रूकने की व्यवस्था की प्रवक्ता ने कहा, पश्चिमी नौसेना कमान ने बारिश में फंसे यात्रियों के लिए कोलाबा, वर्ली और घाटकोपर में रूकने की व्यवस्था की है। ये शरणस्थल सागर इंस्टीट्यूट कोलाबा, आईएनएस त्राता वर्ली, आईएनएस हमला मार्वे और मैटेरियल ऑर्गेनाइजेशन घाटकोपर में उपलब्ध करवाए जा रहे हैं।

बारिश की वजह से फंसे लोगों की मदद के लिए नौसेना ने सीएसटी स्टेशन के बाहर सुबह ब्रेकफास्ट का इंतजाम किया। नेवी के जवान ने बाढ़ से परेशान लोगों की मदद के लिए उन्हें सुबह चाय और नाश्ता दिया। नौसेना ने चर्चगेट, बायकुल्ला, परेल, सीएसटी, वरली, ताड़देव, मुंबई सेंट्रल, दादर, मानखुर्द, चेंबुर, मालाद और घाटकोपर में सुबह लोगों को ब्रेकफास्ट बांटा है।

डब्बावालों ने ली छुट्टी:

बारिश की वजह से मुंबई के मशहूर डब्बावालों ने बुधवार को खाने की डिलीवरी रद्द कर दी है। रेल सेवाएं बाधित होने के कारण यह कदम उठाया गया है। बारिश में फंसे होने की वजह मंगलवार रात काम पर निकले डब्बावाले बुधवार सुबह अपने घर लौट पाए हैं। मुंबई डब्बावाला संघ के प्रवक्ता सुभाष तालेकर ने बताया, दो लाख डब्बों की डिलीवरी करने वाले 5000 से उपर डब्बावाले आज ऐसा नहीं कर पाएंगे, क्योंकि वे रेलवे स्टेशन पर फंसे रहने की वजह से सुबह ही घर लौटे हैं।

चार लोगों के बहने का अंदेशा:

मुंबई में लगातार हो रही बारिश के कारण हुई अलग-अलग घटनाओं में चार व्यक्ति बह गए। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के अनुसार दहिसर, कांदिवली, मालाड और दादर इलाकों से इन घटनाओं की सूचना मिली है।

पुलिस अधिकारी ने कहा कि इनमें से दो नालों में दूर बह गए जबकि एक ड्रेन में बह गया। एक अन्य गणेश प्रतिमा के विसर्जन के दौरान बह गया। पुलिस ने बताया कि एक अन्य घटना में एक व्यक्ति रामेश्वर तिवारी की मौत घाटकोपर के असाल्फा गांव में उसके घर के पास एक पॉवर उप-स्टेशन की दीवार गिरने से हो गई। 

 विक्रोली-ठाणे में घर गिरने से 6 लोगों की मौत

मुंबई में विक्रोली के पहाड़ी सूर्य नगर में हिल पर बना घर बारिश की वजह से नीचे वाले घर पर गिर गया, जिसमें डेढ़ साल के बच्चे समेत तीन लोगों की मौत हो गई। 

पुणे-मुंबई हाईवे ठप
 
बारिश के कारण पुणे से मुंबई की ओर जाने वाले हाईवे पर मंगलवार को गाड़ियों की आवाजाही थम गई। पुणे से मुंबई की ओर जाने वाली गाड़ियों को उर्से टोल नाका और कुसगांव टोल नाका पर रोक दिया गया। मुंबई-पुणे पुराना हाईवे भी बंद कर दिया गया है। वहीं, नासिक से मुंबई की ओर जा रही गाड़ियों को घोटी टोल नाका के पास रोक दिया गया।
 
ट्रेन के कोच में फंसी रही प्रेग्नेंट जर्नलिस्ट-
 
बेतहाशा बारिश के बीच मुंबई की एक प्रेग्नेंट जर्नलिस्ट उर्मिला देथे दिव्यांगों के लिए रिजर्व कोच में 12 घंटे तक फंसी रहीं। उर्मिला ने बताया कि बाद में उन्हें फायर ब्रिगेड और स्थानीय लोगों की मदद से बाहर निकाला गया।

कमेंट करें