विज्ञान/टेक्नोलॉजी

सफल रहा दुनिया के सबसे बड़े प्लेन का ट्रायल, देखें हैरतअंगेज़ वीडियो

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 1
1643
| फरवरी 28 , 2018 , 15:11 IST

अमेरिका में दुनिया के अब तक के सबसे बड़े विमान का रनवे ट्रायल सफल रहा है। नाम के इस विमान को कैलिफोर्निया के मोजेव एयर एंड स्पेस पोर्ट पर टेस्ट किया गया। ये प्लेन 2019 में पहली उड़ान भरेगा। ये अंतरिक्ष में रॉकेट लॉन्च करने का काम करेगा। 24 घंटे के भीतर अंतरराष्ट्रीय स्पेस स्टेशन में रसद सामग्री पहुंचाएगा।

क्या है स्ट्रैटोलॉन्च विमान की खासियत? 

अंतरिक्ष अभियान के लिए तैयार हुआ दुनिया का सबसे बड़ा विमान  

स्ट्रैटोलॉन्च का वज़न है 2.26 लाख किलो

75 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से रनवे पर दौड़ा स्ट्रैटोलॉन्च

स्ट्रैटोलॉन्च के विंगस्पैन की लंबाई 375 फीट 

फुटबॉल फील्ड से बड़ा है स्ट्रैटोलॉन्च का विंगस्पैन 

12.5 फीट है  स्ट्रैटोलॉन्च के विंगस्पैन की चौड़ाई 

 प्रोजेक्ट से जुड़े हैं माइक्रोसॉफ्ट को-फाउंडर पॉल एलेन 

अंतरिक्ष में रॉकेट लॉन्च करने के काम आएगा स्ट्रैटोलॉन्च

 

दिलचस्प है स्ट्रैटोलॉन्च का डिजाइन 

पूरा विमान 2 अलग-अलग केबिन में बंटा हुआ है। दोनों केबिन के बीच का हिस्सा एक लॉन्चपैड की तरह इस्तेमाल होगा। ये हिस्सा ही उड़ान के दौरान रॉकेट का भार संभालने का काम करेगा। दोनों केबिन में अपने-अपने कॉकपिट हैं। दाएं कॉकपिट में 1-1 पायलट, को-पायलट और फ्लाइट इंजीनियर के लिए जगह है। वहीं बायां कॉकपिट खाली रहेगा। इसका इस्तेमाल आपातकाल में किया जा सकेगा।

इस एयरक्राफ्ट का डिजाइन ऐसे तैयार किया गया है कि जो दो हिस्सों में बंटी अपनी बॉडी के बीच रॉकेट ले जाने में सक्षम है। इससे स्पेस में छोटी सैटेलाइट लॉन्च करने की तैयारी है। इसके लिए प्लेन बनाने वाली फर्म ने एयरोस्पेस एंड डिफेंस फर्म ऑर्बिटल एटीके के साथ पिछले साल डील साइन की है। ये प्लेन एक ऊंचाई पर पहुंचने के बाद लॉन्च व्हिकल गिराएगा या रॉकेट लॉन्च करेगा, जो अपने बूस्टर फायर कर हवा से ही स्पेस में सैटेलाइड लॉन्च करेंगे। ये तरीका काफी सस्ता, सटीक और तेज रफ्तार साबित होगा। अब तक पारंपरिक तौर पर सैटेलाइट लॉन्चिंगपैड से लॉन्च किए जाते हैं, जिसमें काफी मात्रा में फ्यूल लगता है।

     

यहां देखें