नेशनल

स्कूलों में पहले बेंच-डेस्क दुरूस्त करो फिर खरीदो एसी और कार: उत्तराखंड हाईकोर्ट

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
64
| जून 23 , 2017 , 16:03 IST | नैनीताल

नैनीताल हाईकोर्ट ने उत्तराखंड में सरकार और सरकारी विभागों के लग्जरी सामानों की खरीद पर रोक लगा दी है। यही नहीं कोर्ट ने यह आदेश देते समय कड़ी टिप्पणी भी की है। प्रदेश में प्राथमिक शिक्षा के गिरते स्तर और इस मामले में अदालती आदेश का पालन नहीं करने पर कोर्ट की दो सदस्यीय खंडपीठ ने यह निर्देश दिया है। कोर्ट ने शिक्षा सचिव और वित्त सचिव को आज कोर्ट में तलब भी किया है।

UHC

सरकारी विभाग में एसी-कार समेत लग्जरी सामान के खरीद पर रोक

अदालत ने इस मामले में कठोर टिप्पणी करते हुए कहा कि सरकार और कोई विभाग, आदेश का पालन होने तक सरकारी खर्च पर कार, एयर कंडीशनर, वाटर प्यूरीफायर समेत कोई भी लग्जरी सामान नहीं खरीद सकेंगे। खंडपीठ ने शिक्षा विभाग को चेताया कि आदेश का पालन नहीं करने पर भविष्य में विभागीय अफसरों के लग्जरी सामानों के इस्तेमाल पर भी रोक लगा दी जाएगी।

जनहित याचिका की गई थी दायर

देहरादून के दीपक राणा ने जनहित याचिका दायर कर प्रदेश में प्राथमिक शिक्षा की बदहाली की जानकारी दी थी। इस पर सुनवाई के बाद कोर्ट ने 16 नवंबर 2016 को सरकार को गाइडलाइन जारी कर इन्हें लागू करने का आदेश दिया था। अब अधिवक्ता ललित मिगलानी ने कोर्ट में पेश किए शपथपत्र में बताया कि कोर्ट के उस आदेश का अब तक पालन नहीं हुआ है। कोर्ट ने इस पर कड़ी नाराजगी जताई।

Govt school

कोर्ट की गाइडलाइन

प्राथमिक विद्यालयों में शिक्षा के गिरते स्तर में गुणवत्तात्मक सुधार करें

विद्यालयों में पठन-पाठन सामग्री का अभाव बना है, इसे तत्काल दूर करें

प्रदेशभर के स्कूलों में शिक्षकों की कमी दूर की जाए, इससे बच्चों की पढ़ाई प्रभावित हो रही है

जर्जर स्कूल भवनों की मरम्मत-पुनर्निर्माण कराया जाए

स्कूलों में छात्र-छात्राओं के बैठने को फर्नीचर नहीं है, व्यवस्था करें

कई स्कूलों में भोजन-पानी-शौचालय की व्यवस्था नहीं है, इसे ठीक किया जाए

स्कूलों में विद्यार्थियों को नियमित ड्रेस भी उपलब्ध नहीं होती, व्यवस्था करें


कमेंट करें