नेशनल

भारत छोड़ो आंदोलन के 75 साल पर पीएम ने दिया नारा, 'करेंगे या करके रहेंगे'

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
342
| अगस्त 9 , 2017 , 12:46 IST | नई दिल्ली

लोकसभा का सत्र शुरू होने से पहले बुधवार को भारत छोड़ो आंदोलन के 75वीं वर्षगांठ के मौके पर कहा कि आज का दिन गौरव का दिन है। इस दिन का देश की स्वतंत्रता में काफी महत्व था। 9 अगस्‍त के आंदोलन की कल्पना अंग्रेजों को भी नहीं थी। युवाओं ने इसे आगे बढ़ाया था। 1857 से 1947 के बीच आंदोलन के कई पड़ाव आए। इतिहास का स्मरण हमें ताकत देता है।

इस मौके पर पीएम मोदी ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को याद करते हुए कहा कि, आंदोलन के दौरान उन्होंने कहा था 'करेंगे या मरेंगे'। इसी के साथ पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि, आज हमारे पास गांधी नहीं हैं बापू जैसा नेतृत्‍व नहीं है लेकिन हमारे पास सवा सौ करोड़ की ताकत है।

पीएम ने कहा कि, जैसे 1947 में भारत कई देशो की आज़ादी के आंदोलन के लिए प्रेरणा बना था, वैसे आज 2017 में भी भारत कई देशो के लिए प्रेरणा का स्रोत बन सकता है। राजनीति से बड़ी राष्‍ट्रनीति होती है। भ्रष्‍टाचार रूपी दीमक ने देश को तबाह कर रखा है।

पीएम मोदी ने आगे कहा कि 1942 में नारा था 'करो या मरो' और आज नारा है 'करेंगे या कर के रहेंगे'... इसी के साथ पीएम मोदी ने कहा कि, आज के समय में कानून तोड़ना हमारा स्‍वभाव बन गया है। गरीबी, कुपोषण, अशिक्षा आज की चुनौतियां हैं और विश्‍व नेतृत्‍व के लिए हमारी तरफ देख रहा है, जीएसटी की सफलता सरकार की इच्‍छाशक्‍ति है। हम इमानदारी का संकल्‍प लेकर विश्‍व का नेतृत्‍व कर सकते हैं।


कमेंट करें