इंटरनेशनल

मनुष्य को फिर से चांद पर भेजने की तैयारी में नासा: अमेरिकी उपराष्ट्रपति

श्वेता बाजपेई, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
219
| अक्टूबर 7 , 2017 , 14:14 IST | वाशिंगटन

अमेरिका के उपराष्ट्रपति माइक पेंस ने कहा है कि ट्रंप प्रशासन चांद पर फिर से मनुष्य भेजने के लिए नासा को निर्देश देगा। इस बयान को पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के विचार के ठीक उलट बताया गया है क्योंकि तत्कालीन राष्ट्रपति ने अंतरिक्ष एजेंसी नासा को मंगल ग्रह पर ध्यान केंद्रित करने को कहा था।

पेंस ने नेशनल स्पेस काउंसिल की बैठक में बोलते हुए ट्रंप प्रशासन की इस मंशा के बारे में बताया।

बाद में उप राष्ट्रपति ने वर्जीनिया के स्मिथसोनियन नेशनल एयर एंड स्पेस म्यूजियम में पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा, ‘नासा के अंतरिक्षयात्री फिर से चांद पर कदम रखेंगे। इस बार वे चांद पर सिर्फ अपने पद चिन्ह छोड़ने और झंडे गाड़ने नहीं, बल्कि वहां ठोस ढांचा तैयार करने भेजे जाएंगे। अमेरिकियों को मंगल व इससे परे जाने की भी जरूरत है। ट्रंप के नेतृत्व में अमेरिका फिर से अंतरिक्ष में सफलता का परचम फहराएगा।’

पेंस की यह घोषणा पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज बुश की अंतरिक्ष संबंधी नीतियों से प्रभावित है जिसे ओबामा प्रशासन में बदलकर मंगल पर केंद्रित कर दिया गया था। हालांकि चांद पर दोबारा पहुंचने के लिए अभी समय सीमा नहीं तय की गई है। उल्लेखनीय है कि पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अपने शासनकाल के दौरान स्पेस एजेंसी को लाल ग्रह पर जीवन की संभावनाएं खोजने की दिशा में कार्य करने के निर्देश दिए थे। पेंस का इस विषय पर वॉल स्ट्रीट जर्नल में भी आलेख प्रकाशित हुआ है।

वहीं, नासा के कार्यकारी प्रशासक रॉबर्ट लाइटफुट ने परिषद की पहली बैठक के बाद कहा, 'उपराष्ट्रपति ने अंतरिक्ष में नए सिरे से अमेरिकी नेतृत्व के लिए एक आह्वान की घोषणा की है  राष्ट्रपति की सिफारिश के साथ नासा आगे बढ़ने और नेतृत्व करने में मदद कर रहा है।'
लाइटफुट ने कहा, 'परिषद ने सीआईएस-चंद्र अंतरिक्ष के सामरिक महत्व को स्वीकार किया है। चंद्रमा के आसपास का क्षेत्र मंगल और उससे आगे के मिशन के लिए सिद्ध मैदान के रूप में काम करेगा।'


कमेंट करें