अभी-अभी

सुकमा: जवानों पर रॉकेट लॉन्चर से किया अटैक, 100 से ज्यादा महिलाएं थी शामिल

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
116
| अप्रैल 25 , 2017 , 13:10 IST | रायपुर

छत्तीसगढ़ के सुकमा में सीआरपीएफ जवानों पर हुए हमले में खुलासा हुआ है कि नक्सलियों ने रॉकेट लॉन्चर का इस्तेमाल किया था। हमले में घायल जवानों के मुताबिक, उन पर रॉकेट लॉन्चर दागे गये। करीब 10 राउंड रॉकेट लॉन्चर का उपयोग नक्सलियों ने किया। इसके अलावा उन पर ताबड़तोड़ फायरिंग भी की गयी।

हमला इतना योजनाबद्ध था कि जवानों को तैयारी का भी मौका नहीं मिला। सीआरपीएफ के अधिकारियों का कहना है कि प्रारंभिक सूचना के मुताबिक, नक्सलियों ने ग्रामीण की मदद से रेकी की और फि‍र इस हमले को अंजाम दिया।

1514926038703

सुकमा हमले में एक बड़ा और अहम खुलासा हुआ है कि नक्सलियों के इस हमले में इस बार बड़ी संख्या में महिलाएं भी शामिल थी।

बताया जाता है कि 100 से अधिक महिला नक्सलियों ने हमले को अंजाम दिया। पहली बार सेना की वर्दी में एके-47 लिए महिला नक्सलियों ने तीन ओर से जवानों को घेरकर ताबड़तोड़ गोलीबारी की। बाकी नक्सलियों ने पीछे से उन्हें सुरक्षा कवर दिया। हमले में घायल जवानों ने बताया कि नक्सलियों ने हमले की कमान तीन स्तर में बनाई थी। तीसरे नंबर पर भी सादे वेश में महिला नक्सली थी। ये हमले के बाद शहीद जवानों के पर्स, मोबाइल और हथियार लूट ले गईं।

Article-0-19702A1400000578-951_968x551

खुफिया पुलिस की मानें तो पिछले साल नक्सलियों ने मिलिट्री कमांड का पुनगर्ठन किया था। इसमें 2000 से अधिक महिला नक्सलियों को भर्ती किया गया था।

हमले के समय अधिकांश जवान पैदल चल रहे थे। सीआरपीएफ के सूत्र बताते हैं कि करीब छह घंटे तक दो कंपनियां डेल्टा एवं चार्ली (लगभग डेढ़ सौ जवान) नक्सलियों से लड़ती रही। जवानों को न तो हेलीकॉप्टर की मदद मिली और न ही एमपीवी मौके पर पहुंच सके। हमले की सूचना मिलने के बाद एक एमपीवी घटनास्थल के लिए रवाना किया गया जो डेढ़ घंटे में पहुंचा। एक एमपीवी में 12 जवान बैठ सकते हैं। पहले दो चक्करों में इसमें 30-30 जवानों को ठूंस-ठूंस कर बैठाया गया।


1137


कमेंट करें