नेशनल

NIA का बड़ा खुलासा, हुर्रियत नेताओं के घरों से मिली आतंकियों की लिस्ट

मनीष शुक्ला, संवाददाता, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
227
| अगस्त 5 , 2017 , 17:26 IST | श्रीनगर

जम्मू-कश्मीर में आतंकी फंडिंग के मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी यानी एनआईए का शिकंजा लगातार कसता जा रहा है। एनआईए के सूत्रों की माने तो इस मामले में एनआईए को बड़ी कामयाबी मिली है जिसके तहत हुर्रियत नेताओं के खिलाफ बड़ा खुलासा हुआ है। सूत्रों की माने तो हुर्रियत नेताओं को इस बात की पूरी जानकारी है कि कश्मीर घाटी में किस किस जिले में कौन कौन से संगठन का आतंकी मौजूद है और हुर्रियत के नेताओं के पास इन आतंकियों की जिलेवार लिस्ट भी मौजूद है।

मीरवाइज के राजदार शाहीदुल के घर मिली आतंकियों की लिस्ट

एनआईए सूत्रों के मुताबिक हुर्रियत नेता शाहीदुल इस्लाम लश्कर, हिज्बुल और जैश ए अहमद के 158 आतंकियो का पूरा लेखा जोखा रखते हैं। इसका खुलासा मीरवाइज उमर फारूक के राजदार शाहीदुल इस्लाम के घर पर एनआईए की ओर से मारे गए छापे के दौरान आतंकियो की लिस्ट से हुई है। इस लिस्ट में आतंकी कश्मीर में किस जगह और कहां पर तैनात हैं, उसकी पूरी जानकारी मौजूद है।

Hurriyat

हिजबुल चीफ सलाउद्दीन के साथ भी दिखे हैं शाहीदुल इस्लाम

जांच एजेंसियों के विश्वस्त सूत्रों के मुताबिक शाहीदुल इस्लाम मीरवाइज उमर फारूक का सबसे खास व्यक्ति है। शाहीदुल इस्लाम की एक तस्वीर भी एनआईए ने उसके घर से जब्त की है जिसमें शाहीदुल इस्लाम हिज्बुल के सरगना सैय्यद सलाउद्दीन के साथ दिखाई दे रहा है। सूत्रों के मुताबिक शाहीदुल इस्लाम लश्कर के आतंकियों की आर्थिक मदद भी करता है। हुर्रियत नेताओं से लश्कर के आतंकी पांच हज़ार से दस हज़ार रुपये बकायदा चिट्ठी लिखकर मांगते हैं।

सूत्रों के मुताबिक कश्मीर घाटी में आतंक को जिंदा रखने के लिए पैसा दिया जाता है। शाहीदुल इस्लाम से लश्कर का आतंकी पैसा मांगता है, हालांकि अभी शाहीदुल इस्लाम 10 दिन की NIA की कस्टडी के बाद अब कोर्ट ने उसको न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

H1

सीमा पार से हवाला के जरिए पहुंचा हुर्रियत नेताओं को पैसा

आतंकी फंडिंग पर लगातार राष्ट्रीय जांच एजेंसी यानी एनआईए अपनी पड़ताल कर रही है और इस बात के पुख्ता सबूत जांच एजेंसियों को मिल चुके हैं कि कश्मीर घाटी में आतंकी फैक्ट्री में सीमापार से पैसा भेजा जा रहा है। एनआईए सूत्रों के मुताबिक कश्मीर घाटी में हवाला फंडिंग को लेकर के एनआईए की जांच में बड़ा खुलासा सामने आ चुका है।

हवाला के जरिए पैसा भेजे जाने का दिल्ली कनेक्शन

कश्मीर में अलगाववादियों को हवाला के जरिए पैसा भेजे जाने का दिल्ली कनेक्शन भी जांच एजेंसियों के सामने आया है। विश्वस्त सूत्रों के मुताबिक पुरानी दिल्ली के बल्लीमारान और चांदनी चौक इलाके के हवाला ऑपरेटर के जरिए श्रीनगर में अलगाववादियों को भेजे जाने का खुलासा हुआ है।

जांच एजेंसियों के मुताबिक सबसे पहले पैसा पाकिस्तान से सऊदी अरेबिया में बैठे हवाला ऑपरेटर के पास भेजा जाता था। फिर सऊदी अरेबिया के हवाला ऑपरेटर के जरिये यह पैसा बांग्लादेश के हवाला ऑपरेट के पास भेजा जाता था। इसके बाद श्रीलंका के हवाला ऑपरेटर के जरिए यह पैसा दिल्ली के हवाला ऑपरेटरों के पास पहुंच रहा था

दिल्ली आने के बाद कश्मीर कैसे पहुंचता था आतंकी पैसा

सीमापार से भेजा गया पैसा सऊदी अरबिया, बांग्लादेश और श्री लंका होते हुए दिल्ली पहुंच जाता था। इसके बाद दिल्ली में बैठे हवाला के बड़े ऑपरेटर दिल्ली, पंजाब ,हिमाचल प्रदेश के कुछ व्यापारियों की मदद से आतंक की फैक्टी में लगने वाले इन पैसों को कश्मीर घाटी में अलगाववादियों तक पहुंचाते थे।

Kash

सेना पर हमले करवाने पर खर्च होता है आतंकियों को मिलने वाला फंड

इन पैसों का इस्तेमाल अलगाववादी नेता कश्मीर घाटी में सेना पर हमले करवाने , कश्मीर घाटी में मौजूद आतंकियों को आर्थिक मदद करने, सैन्य बलों पर पत्थरबाजी करने और घाटी में विरोध प्रदर्शन करने सहित तमाम राष्ट्र विरोधी गतिविधियों में करते थे। हालांकि राष्ट्रीय जांच एजेंसी यानी एनआईए ने आतंकी फंडिंग के इस लिंक को खंगाल लिया है और लगातार इस मामले में कई हुर्रियत नेताओं सहित तमाम अलगाववादी नेताओं पर शिकंजा कस दिया है ।

 

 

 


कमेंट करें