नेशनल

कानून में देर है अंधेर नहीं, बेटी को मिल गया इंसाफ: निर्भया के माता-पिता

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
150
| मई 5 , 2017 , 18:10 IST | नई दिल्ली

सुप्रीम कोर्ट की ओर से निर्भया गैंग रेप मामले में सभी दोषियों को फांसी की सजा दिए जाने का पीड़िता के परिजनों ने स्वागत किया है। पीड़िता की मां आशा देवी ने कहा कि शीर्ष अदालत के इस फैसले से उनकी बेटी को इंसाफ मिला है। हम सबको इंसाफ मिला है, लेकिन बेटी को खोने का मलाल सब दिन रहेगा।

उन्होंने कहा कि,

हमारी कानून व्यवस्था थोड़ी लचर जरूर है, लेकिन आज मैं मानती हूं कि कानून में देर हैं, लेकिन अंधेर नहीं है

उन्होंने कहा कि सिस्टम के खिलाफ लड़ाई जारी रहेगी। निर्भया की मां से देश के सभी लोगों से लड़कियों की सुरक्षा में सहयोग की अपील की, ताकि बेटियां देश में सुरक्षित महसूस करें।

वहीं, निर्भया के पिता ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का यह फैसला उनके परिवार के लिए जीत है। उन्होंने कहा कि,

मैं शीर्ष अदालत के इस फैसले से बेहद खुश हूं, अब कोई गिला नहीं है

सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने से पहले निर्भया की मां आशा देवी ने कहा था कि पिछले 5 साल में कई बार खुद को टूटा हुआ महसूस किया, कई बार लगा की न्याय नहीं मिलेगा। लेकिन जिस दिन का हमें इंतजार था, इस दिन के लिए मैं सभी देशवासियों का धन्यवाद करती हूं।

सरकार को ऐसे हादसों से फर्क नहीं पड़ता

उन्होंने कहा कि,

पहले निर्भया को कोई नहीं जानता था, लेकिन फिर भी लोगों ने उसका साथ दिया। आज भी ऐसे हादसे नहीं रुके हैं

निर्भया की मां ने कहा कि सरकार को ऐसे हादसों से फर्क नहीं पड़ता है, कहने के लिए काफी छोटी बात है कि रेप हो गया, लेकिन सिस्टम को इस बारे में सोचना चाहिए और कड़ा एक्शन लेना चाहिए


लड़की के परिवार को माना जाता है दोषी

आशा देवी ने कहा कि रेप होने के बाद लड़की के परिवार को ही दोषी माना जाता है, कि हमने सही संस्कार नहीं दिया। लोग कहते हैं कि लड़की ने छोटे कपड़े पहने थे इसलिए रेप हो गया, लड़कों वालों की इसको लेकर सोच बदलनी होगी। 

सुनिए बातचीत


कमेंट करें