नेशनल

मंत्रालय के लिए सीतारमण को करना पड़ेगा इंतजार, जेटली बतौर रक्षामंत्री गए जापान

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
94
| सितंबर 4 , 2017 , 11:35 IST | नई दिल्ली

मोदी सरकार के मंत्रिमंडल विस्तार एवं फेरबदल के तहत रक्षामंत्री बनाई गईं निर्मला सीतारमण वित्तमंत्री अरुण जेटली के जापान से लौटने के बाद पदभार संभालेंगी। जेटली जापान का यह दौरा रक्षामंत्री के रूप में करेंगे। रक्षामंत्री का अतिरिक्त प्रभार संभाल रहे जेटली रविवार को रक्षा मुद्दे पर द्विपक्षीय वार्ता के लिए जापान रवाना हो गए।

पूर्व रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर के गोवा का मुख्यमंत्री बनने के बाद जेटली को रक्षामंत्री का अतिरिक्त प्रभार दिया गया था। जेटली रविवार रात जापान रवाना हो रहे हैं, जहां वह अपने जापानी समकक्ष से द्विपक्षीय वार्ता करेंगे। जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे भी इस माह भारत की यात्रा पर आ रहे हैं।

Defence

जेटली ने पत्रकारों से कहा कि, मैं आज रात जापान की यात्रा पर जा रहा हूं। सामान्यत: नए रक्षामंत्री को जाना चाहिए था, लेकिन रविवार होने की वजह से अंतिम क्षण में ऐसा संभव नहीं हो सका। उन्होंने कहा कि, जापानी प्रधानमंत्री के भारत दौरे से पहले दोनों देशों के बीच यह काफी महत्वपूर्ण सुरक्षा वार्ता है, इसलिए बदलाव उपयुक्त नहीं है। मैं अगले दो दिनों तक वार्ता पूरी होने तक रक्षामंत्री के तौर पर काम करूंगा और सीतारमण वार्ता समाप्त होते ही यह पदभार संभाल लेंगी।

जेटली ने सीतारमण की नियुक्ति पर कहा कि वह इस पद के लिए बहुत ही सक्षम हैं और उनकी नियुक्ति से पूरे विश्व में साकारात्मक संदेश जाएगा। जेटली ने कहा कि, मैं इस बात से बहुत खुश हूं कि मेरे पास अब एक सफल उत्तराधिकारी है, जिसने अपना काम अपने तरीके से किया है और खुद को साबित किया है। उसने अपने लिए उपयुक्त जगह पा ली है।

उन्होंने कहा कि, उनकी नियुक्ति देश के लिए काफी अच्छा है, न सिर्फ महिलाओं के लिए, बल्कि इससे पूरे विश्व में संदेश जाएगा। जेटली ने कहा कि सीतारमण के रक्षामंत्री नियुक्त होने के बाद मंत्रिमंडल की सुरक्षा समिति(सीसीएस) में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के साथ महिलाओं की संख्या दो हो गई है। यह इतिहास में पहला मौका है जब सीसीएस में दो महिलाएं शामिल हुई हैं।

60351766

मंत्रिमंडल फेरबदल के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कैबिनेट में बदलाव कर जवाबदेही का नया बेंचमार्क स्थापित किया है। जेटली ने कहा कि, कैबिनेट में नई नियुक्ति से प्रधानमंत्री ने जवाबदेही का नया बेंचमार्क स्थापित किया है। सभी मंत्रियों और विभागों का लगातार निरीक्षण किया जा रहा है और उन्हें पता है कि कौन अच्छा प्रदर्शन कर सकता है।

अच्छे प्रशासनिक अनुभव वाले नए लोगों को मंत्रिमंडल में शामिल किया गया है। ये वे लोग हैं, जो सेवानिवृत्ति के बाद भाजपा में शामिल हुए थे। मैं इसके लिए निश्चिंत हूं कि इनका कार्यकाल सफल होगा।


कमेंट करें