राजनीति

नितिन पटेल ने तोड़ी चुप्पी, कहा- सत्ता नहीं ये मान-सम्मान की लड़ाई

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
422
| दिसंबर 30 , 2017 , 21:27 IST

विजय रूपाणी के दूसरी बार मुख्यमंत्री बनने के बाद अब मंत्रालयों के बंटवारे पर उप मुख्यमंत्री की नाराजगी की खबरें आ रही हैं। आज खुद डिप्टी सीएम नितिन पटेल ने मीडिया से अनौपचारिक बातचीत में कहा विजय रुपाणी के मुख्यमंत्री बनने से उन्हें कोई परेशानी नहीं है लेकिन वह सिर्फ इतना चाहते हैं कि उनका सम्मान बना रहे।

उन्होंने कहा कि मैंने अपनी बात पार्टी हाईकमान के सामने रख दी है अब वह ही इस पर फैसला लेंगे। सूत्रों की मानें तो गुजरात में दूसरी बार कमान संभालने वाले सीएम विजय रुपाणी के साथ मंत्रालयों के बंटवारे को लेकर नितिन पटेल नाराज हैं।

बातचीत में नितिन पटेल ने 10 विधायकों के समर्थन की बात को सिरे से नकार दिया। पटेल ने कहा, उन्होंने कभी ऐसी बात नहीं की है। सरदार पटेल ग्रुप के नेता लालजीभाई की नितिन पटेल को गुजरात का मुख्यमंत्री बनाने की मांग को डिप्टी सीएम नितिन पटेल ने उनकी दिल की इच्छा बताई।

Deeee

लालजीभाई चाहते हैं कि नितिन पटेल को सीएम बनाया जाए, इसी के चलते लालजीभाई ने नितिन पटेल को मुख्यमंत्री बनाने की मांग पर सोमवार को मेहसाना बंद का आह्वान किया है। इस दौरान उन्होंने डिप्टी सीएम पद से इस्तीफा देने की खबरों का भी खंडन किया।

अनबन की ये है वजह:

बता दें कि गुजरात में सरकार बनने के महज तीन दिन बाद ही मुख्यमंत्री विजय रूपाणी और उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल के बीच अनबन की खबर आने लगी। साथ ही वहां के विधायक भी अपनी नाराजगी जताने लगे हैं। लगातार छठी बार गुजरात में सरकार बनाने वाली भारतीय जनता पार्टी की इस सरकार में शीर्ष दो नेताओं के बीच अनबन का सबसे अहम कारण विभागों के बंटवारे को लेकर माना जा रहा है।

 


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव प्रोड्यूसर हैं

कमेंट करें