राजनीति

नीतीश का तेजस्वी पर हमला, कहा- सत्ता सेवा के लिए होती है 'मेवा' के लिए नहीं (वीडियो)

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 1
250
| जुलाई 28 , 2017 , 16:02 IST | पटना

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने यहां शुक्रवार को राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद के परिवार पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों पर तंज कसते हुए कहा कि सत्ता लोगों की सेवा के लिए होती है न कि 'मेवा' के लिए। बिहार विधानसभा में पेश विश्वास मत प्रस्ताव पर चर्चा में भाग लेते हुए नीतीश कुमार ने लोगों से वादा किया,

अब बिहार में सरकार चलेगी, जनता की सेवा करेगी और भ्रष्टाचार और अन्याय को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

नीतीश ने कहा,

हमने कई समस्याओं का सामना किया, बावजूद इसके गठबंधन धर्म का पालन करने का हरसंभव प्रयास किया। परंतु जब स्थिति खराब हो गई और जनता परेशान होने लगी तो इसके अलावा और कोई रास्ता नहीं था।

उन्होंने कहा, "मुझे कोई सांप्रदायिकता का पाठ नहीं पढ़ा सकता। आज अपना पाप छिपाने लोग 'सेकुलर' बने हैं।"

उन्होंने कांग्रेस पर भी निशाना साधते हुए कहा कि महागठबंधन बचाने के लिए कांग्रेस नेताओं को भ्रष्टाचार के मुद्दे पर हस्तक्षेप करने को कहा था, लेकिन उन्होंने भी कुछ नहीं किया। उन्होंने कहा कि सत्ता लोकलाज से चलती है।

अपने संक्षिप्त भाषण में उन्होंने सरकार को समर्थन देने के लिए हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा, लोकजनशक्ति पार्टी (लोजपा) और राष्ट्रीय लोकसमता पार्टी (रालोसपा) के सदस्यों को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा, "मैं विपक्ष के सभी आरोपों, बातों का जवाब दूंगा।" 

Nitish-kumar-12

नीतीश ने यह भी कहा कि सरकार आगे चलेगी, बिहार की खिदमत करेगी लेकिन भ्रष्टाचार और अन्याय को बर्दाश्त नहीं करेंगे। नीतीश ने कहा कि धर्मनिरपेक्षता को भ्रष्टाचार के लिए प्रयोग नहीं किया जाना चाहिए, हम गलत तरीकों से पैसा कमाने वालों का समर्थन नहीं करते।

आपको बता दें कि बिहार विधानसभा में तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार पर तीखा हमला बोला था। तेजस्वी ने कहा था कि मेरे आत्मविश्वास से नीतीश कुमार डर गए। अगर नीतीश में हिम्मत होती तो वो मुझे बर्खास्त करते। तेजस्वी ने यह भी कहा कि नीतीश कुमार की छवि के बारे में पूरा देश जानता है, क्या नीतीश को सुशील मोदी के पास बैठने में शर्म नहीं आई।

तेजस्वी ने कहा कि आप चंपारण यात्रा निकालते हैं और बापू के हत्यारे की गोद में जाकर बैठ जाते हैं। उन्होंने कहा कि योगी और कई बीजेपी नेताओं पर गंभीर मामले दर्ज हैं। क्या नीतीश कुमार उन सबसे इस्तीफे की मांग करेंगे?


कमेंट करें