नेशनल

सियासत के लिए सेना की छवि खराब कर रहे हैं उमर अब्दुल्ला? देखिए वीडियो

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
197
| अप्रैल 14 , 2017 , 16:48 IST | श्रीनगर

जम्मू-कश्मीर में स्थानीय युवकों द्वारा चुनावी ड्यूटी में लगे CRPF जवानों की पिटाई का विडियो वायरल होने के बाद उमर अब्दुल्ला ने कुछ तस्वीरें और वीडियो ट्विटर पर शेयर किए हैं। वीडियो और तस्वीरों में दिख रहा है कि सेना की एक जीप के बोनट पर एक कश्मीरी युवक को बांधा गया है। 

 उमर ने इन तस्वीरों के साथ लिखा है कि,

इस युवक को आर्मी जीप पर इसलिये बांधा गया है ताकि उन पर पत्थर न फेंके जाएं। यह बहुत खौफनाक है!

अगले ट्वीट के साथ उन्होंने 15 सेकंड की एक वीडियो क्लिप शेयर करते हुए लिखा है कि इसका वीडियो भी है। इसमें एक चेतावनी सुनी जा सकती है कि पत्थरबाजों का यह अंजाम होगा। इस मामले में तुरंत जांच होनी चाहिए।

देखिए वीडियो

वीडियो में दिख रहा है कि जीप के बोनट पर एक आदमी को बांधा गया है। इसी जीप से लाउडस्पीकर पर चेतावनी दी जा रही है- ऐसा हाल होगा कश्मीर वालों का, यह हाल होगा। जीप के पीछे एक ट्रक भी जाता नजर आ रहा है।

Kashmir

हालांकि इस वीडियो की प्रामाणिकता की पुष्टि अभी तक नहीं हो पाई है, इसलिए यह कहा नहीं जा सकता कि उमर के आरोपों में कितनी सच्चाई है। वहीं, आर्मी ने कहा है कि इस घटना को लेकर जांच की जा रही है।

उमर की हो रही आलोचना

उमर के ट्वीट पर ऐसे भी रिप्लाई आए कि उन्हें CRPF जवानों की पिटाई का वीडियो शेयर नहीं करना चाहिए। इसके जवाब में उमर ने लिखा कि उस वीडियो का हवाला देकर इस हरकत को जायज नहीं ठहराया जा सकता।

CRPF जवानों की पिटाई का वीडियो

उमर लिखते हैं कि,

क्या हमें आर्मी से पत्थरबाजों जैसे व्यवहार की उम्मीद रखनी चाहिए?

इसके बाद उन्होंने अगले ट्वीट में लिखा कि वह CRPF जवानों की पिटाई के वीडियो से उपजे गुस्से को समझ सकते हैं। उन्हें भी इस बात पर गुस्सा आ रहा है कि जीप से बंधे कश्मीरी युवक का यह वीडियो लोगों के बीच वही गुस्सा नहीं पैदा करेगा।

Farooq-Abdullah

फारूख अबदुल्ला ने कहा- पत्थरबाजों को सरकार देती है पैसा

दूसरी तरफ, उमर के पिता फारुख अब्दुल्ला का कहना है कि कई पत्थरबाजों को शायद सरकार की तरफ से पैसा मिलता है ताकि वे डर का माहौल पैदा कर दें और लोग वोट डालने न निकलें। नेशनल कॉन्फ्रेंस के सीनियर लीडर का इशारा राज्य में हाल ही में हुए उपचुनाव में रेकॉर्ड स्तर पर दर्ज किए गए कम वोटर टर्नआउट की तरफ था।

गौरतलब है कि गुरुवार को बडगाम में हुए उपचुनाव में 38 पोलिंग बूथों पर केवल 2 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया जो कि राज्य में अब तक का सबसे कम वोटर टर्नआउट है।

गौरतलब है कि CRPF जवानों की पिटाई वाले वाले मामले में FIR दर्ज करवा दी गई है और आरोपी युवकों की पहचान भी कर ली गई है। राज्य के उपमुख्यमंत्री निर्मल सिंह से लेकर CRPF के कार्यवाहक महानिदेशक सुदीप लखटकिया ने बयान दिया था कि दोषियों के खिलाफ एक्शन लिया जाएगा।

Stone pelters


कमेंट करें

अभी अभी