नेशनल

सुंजवां हमला: सर्च ऑपरेशन के दौरान मिला एक और जवान का शव, तलाश जारी

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
256
| फरवरी 13 , 2018 , 12:54 IST

सुंजवान सैन्य शिविर में तलाशी के दौरान एक और जवान का शव बरामद होने के बाद जम्मू में हुए आतंकवादी हमले के मृतकों की संख्या बढ़कर सात हो गई है। सेना ने मंगलवार को कहा कि छठे जवान का शव सोमवार शाम को तलाशी अभियान के दौरान बरामद हुआ।

 

इसके बाद इस सैन्य शिविर पर शनिवार को हुए हमले में मृतकों की संख्या बढ़कर सात हो चुकी है। 

इस हमले में छह जवान शहीद हो चुके हैं और एक नागरिक की जान चली गई है। इसके अलावा महिलाओं और बच्चों सहित 10 अन्य घायल हैं। 

गौरतलब है कि 10 फरवरी को भारी हथियारों से लैस जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी ग्रेनेड फेंकते हुए और स्वचालित हथियारों से गोलीबारी करते हुए सुंजवान स्थित सैन्य शिविर में घुस आए थे।

पाकिस्तानी मूल के तीनों आतंकवादी जूनियर कमिशन्ड ऑफिसर के आवासीय क्वार्टर में प्रवेश करने में कामयाब रहे थे, जिन्हें बाद में सुरक्षा बलों ने मार गिराया। 

अपनी नापाक हरकतों से बाज न आने वाले पाकिस्तान को भारत पर जम्मू-कश्मीर में सुंजवान आर्मी कैंप पर आतंकी हमले के बाद अब सर्जिकल स्ट्राइक का डर सता रहा है। सुंजवां आर्मी कैंप पर हमले के पीछे भारत ने पाक में स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद को दोषी करार दिया है।

पाकिस्तान पहले ही चेतावनी के लहजे में कहा है कि भारतीय पक्ष हर बार की तरह उचित जांच किए बगैर गैर जिम्मेदाराना बयान देते हुए निराधार आरोप लगाता है।

उल्टे पाकिस्तान ने भारत पर आरोप लगाया कि कश्मीर में चल रहे 'सशस्त्र विद्रोह' पर काबू पाने की कोशिशों में की जा ही क्रूरता से ध्यान हटाने के लिए वह ऐसे आरोप लगा रहा है। साथ ही पाकिस्तान ने एलओसी पार किसी भी तरह की जवाबी कार्रवाई को लेकर भारत को चेतावनी भी दे डाली।

पाकिस्तान ने आगे अपने बयान में कहा है कि हमें उम्मीद है कि कश्मीर में उत्पीड़न और मानवाधिकारों के उल्लंघन को रोक लगाने के लिए अंतरराष्ट्रीय समुदाय भारत पर दबाव बनाएगा और एलओसी के पार ऐसी घटनाओं पर स्थायी रुप से अंकुश लगे।

उसकी ओर से कहा गया कि भारत की तरफ से हमेशा ऐसे आरोप लगाए गए कि पाकिस्तान आतंकियों की ट्रेनिंग कराने और एलओसी के रास्ते उन्हें जम्मू-कश्मीर में घुसाने में मदद करता है।

जम्मू-कश्मीर के डीजीपी एसपी वैद्य के मुताबिक सुरक्षा एजेंसियों को आतंकियों की बातचीत रिकॉर्ड करने में सफलता मिली है और सारे इशारे जैश की ही तरफ हैं।

सेना के मुताबिक आतंकियों के पास से असॉल्ट राइफल, यूबीजीएल और ग्रेनेड्स बरामद हुए हैं। हालांकि पाकिस्तान आतंकियों को पनाह देने की बात को हमेशा से नकारता रहा है।

इसे भी पढ़ें-: सुंजवान आतंकी हमले पर रक्षा मंत्री ने कहा- PAK को चुकानी पड़ेगी कीमत

पाकिस्तान का दावा है कि वह केवल 'आत्मनिर्णय के अधिकार' के लिए संघर्ष कर रहे कश्मीर के लोगों को अपना कूटनीतिक और नैतिक समर्थन देता है। आपको बता दें कि 2016 में उड़ी में आतंकी हमला हुआ था, जिसमें देश के 18 जवान शहीद हो गए थे। भारत ने इसके बाद सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया था।


कमेंट करें