नेशनल

योगी के मंत्री का विवादित बयान, थाने में बंद किये जाएंगे बच्चों को स्कूल न भेजने वाले

अर्चित गुप्ता | 0
65
| अक्टूबर 9 , 2017 , 14:52 IST | बलिया

उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने धमकी दी है कि अपने बच्चों को स्कूल न भेजने वाले अभिभावकों को बिना भोजन-पानी के हवालात में डाल दिया जाएगा। इससे जुड़ा एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। वीडियो में पिछड़ा वर्ग कल्याण एवं दिव्यांगजन मंत्री ओमप्रकाश राजभर बलिया जिले के रसड़ा में शनिवार को पार्टी कार्यकर्ताओं के एक कार्यक्रम को संबोधित करते नजर आ रहे हैं। इस दौरान मंत्री ओमप्रकाश राजभर ऐसे अभिभावकों के प्रति गहरी नाराजगी जताते हैं, जो बच्चों को स्कूल नहीं भेजते। कहते हैं-‘मैं अपने पसंद का एक कानून लाने जा रहा हूं।

अगर कोई गरीब बच्चा स्कूल नहीं जा पाता है तो उसके अभिभावक को पांच दिन थाने में गुजारने होंगे, वह भी बिना भोजन-पानी के।’ मंत्री ओमप्रकाश चेताते हैं ‘अगर अपने बच्चे को स्कूल नहीं भेजते हैं तो आपको पुलिस घर से उठाकर ले जाएगी। अब तक आपके नेता, बेटा-भाई समझाते आ रहे हैं लेकिन, आपको समझ में नहीं आया। मैं आपको समझने के लिए छह माह का मौका और दे रहा हूं।

उन्होंने कहा कि लंका जाने के लिए सेतु बनाने में बाधा बने समुद्र के खिलाफ भगवान ने जिस तरह धनुष-बाण उठा लिया था, उसी तरह अपने बच्चों को स्कूल न भेजने वाले अभिभावकों के खिलाफ कदम उठाने की जरूरत है। मंत्री का यहां तक कहना था- ‘मैं तो ऐसे अभिभावकों के लिए फांसी की सजा के पक्ष में हूं।’ वीडियो को लेकर विवाद खड़ा होने के बावजूद ओमप्रकाश राजभर अपने बयान पर कायम नजर आए।

उन्होंने कहा-‘मैं अपनी बात पर कायम हूं। उन्हें जेल भेजने की धमकी देकर मैंने गलत क्या किया है। वायरल वीडियो के संबंध में मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने कहा- ‘सरकार इतनी सुविधाएं दे रही है फिर भी तमाम बच्चों का स्कूल न जाना गंभीर बात है। इसके लिए अभिभावक दोषी हैं। लोगों को चाहिए कि वह अपने आसपास नजर रखें। जो बच्चे स्कूल न जाते हों उन्हें और उनके परिजनों को जागरूक करें। हम भी उन्हें प्रेरित करेंगे।

छह माह के अंदर यदि वह बच्चों को नियमित नहीं किए तो उनके खिलाफ कड़ा एक्शन लिया जाएगा। हम हर सुविधा दे रहे हैं। किताब, कापी, ड्रेस, जूता, मोजा, खाना तक। फिर कैसे कोई शिक्षा से उन्हें दूर कर सकता है। हम इस मामले में चुप नहीं बैठ सकते।


कमेंट करें

अभी अभी