नेशनल

पाकिस्तान की नई चाल! अब गैंगस्टर उजैर बलोच को बताया कुलभूषण जाधव का मददगार

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
108
| अप्रैल 12 , 2017 , 14:57 IST | इस्लामाबाद

कुलभूषण जाधव मामले में अब पाकिस्तान का नया पैंतरा सामने आया है। पाकिस्तान के खतरनाक गैंगस्टर उजैर बलोच के साथ जाधव का नाम जोड़ा रहा है। पाकिस्तानी सेना ने दावा किया है कि उजैर पाकिस्तान के खिलाफ जासूसी करने में जाधव की मदद कर रहा था। गौरतलब है कि उजैर को पिछले साल जनवरी में गिरफ्तार किया गया था। दो दिन पहले पाकिस्तानी सेना ने उसे अपनी हिरासत में लिया है।

ISPR के महानिदेशक मेजर जनरल आसिफ गफूर ने एक ट्वीट में लिखा,

जासूसी के आरोपों (विदेशी खुफिया एजेंसियों को संवेदनशील सुरक्षा जानकारी देने के आरोप में) में उजेर बलोच को पाकिस्तान आर्मी एक्ट 1923 के तहत सैन्य हिरासत में लिया गया।

रिपोर्ट में दावा किया गया है कि बलूच पर भारत और ईरान को संवेदनशील जानकारी संदेह का आरोप है और बलोच ने जाधव से भी संपर्क किया है।

उजैर पिछले 15 महीनों से पाकिस्तानी रेंजर्स की हिरासत में था। अब उसे सेना के हवाले कर दिया गया है। जिस पाकिस्तान आर्म्स ऐक्ट (PAA) के तहत जाधव पर केस चलाया गया, उसी कानून के तहत अब उजैर पर भी मामला दर्ज किया गया है।  बता दें कि साल 2009 में कुख्यात अंडरवर्ल्ड सरगना रहमान बलोच की पुलिस मुठभेड़ में हुई मौत के बाद हुए लयारी गैंगवॉर में उजैर का नाम आया। उजैर पर कई हत्याओं का आरोप है। उसका नाम कई फिरौती की घटनाओं से भी जुड़ा है। इसके अलावा तस्करी और पुलिस पर हमला करने के भी मामलों में वह आरोपी है।

 

वहीं पाकिस्तान की सैन्य अदालत द्वारा फांसी की सजा पाने वाले कुलभूषण जाधव और ओलंपिक में रजत पदक जीतने वाले भारत सरकार के मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर के बीच एक नए रिश्ते की जानकारी सामने आई है। राठौड़ के मुताबिक वो दोनो एक ही बैच के एनडीए स्टूडेंट रह चुके हैं। इस बात का खुलासा खुद राज्यवर्धन सिंह राठौर ने किया है।

एक टीवी चैनल को उन्होंने बताया कि 1987 में जाधव राष्ट्रीय रक्षा अकादमी (एनडीए) में हमारे बैचमैट थे। केन्द्रीय मंत्री ने बताया,

हम एनडीए में बैचमैट थे। इसलिए इस मुद्दे पर बात करना मेरे लिए अनुचित होगा। लेकिन मैं यह कह सकता हूं कि भारत सरकार पाकिस्तान को इस कदम से रोकने के लिए हर संभव राजनयिक और अन्य कदम उठाएगी।

 

जासूसी के कथित आरोपों को लेकर पाकिस्तान में मौत की सजा पाने वाले कुलभूषण जाधव और सूचना प्रसारण राज्य मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ एक ही बैच के हैं। दोनों एनडीए के 77 वें कोर्स के हैं। एनडीए से तीन साल का कोर्स पूरा करने के बाद जाधव ने भारतीय नौ सेना ज्वाइन की और 1991 में मेरीटाइम फोर्स इंजियनियरिंग ब्रांच में कमीशंड हुए। वहीं, राज्यवर्धन सिंह राठौड़ इंडियन मिलिट्री एकेडमी देहरादून से एक साल का कोर्स करने के बाद आर्मी में नियुक्त हुए।


कमेंट करें