नेशनल

अडानी के खिलाफ ख़बर पर स्पष्टीकरण नहीं देने से गई प्रणंजय गुहा ठाकुरता की नौकरी?

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
176
| जुलाई 20 , 2017 , 15:57 IST | नई दिल्ली

देश के बड़े पत्रकार और इकनॉमिक एंड पोलिटिकल वीकली मैगजीन के संपादक प्रणंजय गुहा ठाकुरता के इस्तीफे के बाद एक बार फिर से चर्चा का माहौल गर्म है। गुहा के इस्तीफे के बाद लोग तरह-तरह की दलीलें दे रहे हैं। कोई अडानी ग्रुप के गड़बड़ घोटाले से जुड़ी एक बड़ी ख़बर छापे जाने को इस्तीफे की वजह बता रहा है तो कोई मैनेजमेंट का गुहा के साथ ना खड़ा होना इसका कारण बता रहा है। इस बीच एक वेबसाइट से बात करते हुए प्रणंजय गुहा ठाकुरता ने अपने इस्तीफे की बात पर तो मुहर लगा दी है लेकिन इस्तीफे के पीछे के कारणों पर चुप्पी साध बैठे हैं।

Unnamed

प्रणंजय अपने इस्तीफे के पीछे कई सवाल छोड़ गए हैं। पहला सवाल तो ये हैं कि ख़बर लिखने के बाद प्रकाशन का मैनेजमेंट संकट के समय साथ खड़ा होने की जगह इस्तीफा मांग लेता है। वहीं दूसरा सवाल ये है कि क्या गुहा अडानी ग्रुप को फायदा मिलने की बात साबित नहीं कर सके जिसका जिक्र उन्होंने अपनी खबर में किया था। जिसके बाद उन्हें इस्तीफा देना पड़ा।

Epw

दरअसल प्रणंजय ने -Did Adani Group Evade ₹1,000 Crore Taxes? शीर्षक से अडानी ग्रुप पर खबर लिखी थी। इससे पहले भी कई खबरें अडानी ग्रप पर लिखीं। जिसमें मोदी सरकार पर अंबानी को टैक्स से लेकर कर्ज आदि में माफी सहित अरबों का फायदा पहुंचाने की बातें उजागर की। इन ख़बरों को आधारहीन बताते हुए अडानी ग्रुप ने लीगल नोटिस दिया था। सूत्र बताते हैं कि इस पर मैनेजमेंट ने एडिटर प्रणंजय के साथ मीटिंग की। कहा कि अडानी की ओर से भेजी नोटिस का तथ्यपरक जवाब दिया जाए। सूत्र बताते हैं कि ख़बर तो प्रणंजय ने बहुत धारदार लिख दी थी, मगर उसमें मोदी सरकार की ओर से करोड़ों का अडानी ग्रुप को फायदा मिलने की बात वे साबित नहीं कर सके। जिससे मैनेजमेंट को अडानी के आगे बैकफुट पर आना पड़ गया। बस फिर क्या था कि मैनेजमेंट ने उनसे इस्तीफा मांग लिया।

खबर को पढ़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करेंhttp://www.epw.in/journal/2017/2/insight/did-adani-group-evade-1000-crore-taxes.html

बता दें कि गुहा ने अप्रैल 2016 में इस वीकली के एडिटर का पद ज्वाइन किया था। इस वीकली का प्रकाशन समीक्षा ट्रस्ट की ओर से होता है। सी राममनोहर रेड्डी के इस्तीफा देने के बाद गुहा को वीकली के संपादन की जिम्मेदारी मिली थी।

Disclaimer - इस स्टोरी में दिए गए तथ्यों को न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया प्रमाणित नहीं करता है। तमाम जानकारी सोशल मीडिया पर प्रणंजय गुहा ठाकुरता को लेकर छापी गई ख़बरों के आधार पर लिखी गई है। 


कमेंट करें