अभी-अभी

मारा गया पेरिस हमले का आतंकी, हमले में 2 पुलिसवालों की गई थी जान, IS ने लिया जिम्मा

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
119
| अप्रैल 21 , 2017 , 17:33 IST | पेरिस

फ्रांस की राजधानी पेरिस में एक हथियारबंद शख्स ने पुलिस बस पर हमला किया। हमले में एक पुलिसकर्मी की मौत हो गई जबकि दो अन्य गंभीर रूप से घायल हुए हैं। स्काई न्यूज के मुताबिक घायल पुलिसकर्मी ने अस्पताल में दम तोड़ दिया । फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांसवा ओलांद के मुताबिक उन्हें यकीन है कि ये एक आतंकी हमला था।

बता दें कि पेरिस अटैक का आतंकी करीम चैरुफी(39) भी इस शूटआउट में मारा गया। उसकी मौत घटनास्थल पर ही हो गई। बता दें कि वो ऑडी कार से आया था सेट्रल पेरिस के चैप्स इलीजी में हमला करने। उसके हाथ में पंप एक्शन शॉटगन थे। फ्रेच पुलिस के जवाबी हमले में वो मारा गया

Paris attack 3

फ्रेंच पुलिस ने हमलावर करीम चैरुफी के घर की भी तलाशी ली। फ्रेंच पुलिस के मुताबिक करीम चरमपंथी था। उसने 2001 में भी दो ऑफिसर्स की जान ले ली थी। इस हत्या के लिए वो 20 साल की सजा काट चुका था। उसके घर से आई डी भी बरामद की गई है।

Karim 1

ऐसे दिया गया हमले को अंजाम

हमला पेरिस के शाँ एलीजे इलाके में शहर की एक मुख्य सड़क पर हुआ। शाँ एलीजे पेरिस की मशहूर जगहों में से एक है और यहां हर वक्त विदेशी सैलानियों का जमावड़ा रहता है। फ्रांसीसी मीडिया के मुताबिक हमलावर एक कार से उतरा और ऑटोमेटिक बंदूक से पुलिस की बस पर गोलीबारी शुरू कर दी।

Paris 7

घटना के बाद पूरे इलाके को सील कर दिया गया। हमलावर ने भागने की कोशिश की लेकिन सुरक्षाबलों ने उसका पीछा किया और मुठभेड़ मे मार गिराया।

Karim 2

(इसी ऑडी कार से आया था हमलावर)

फ्रांसीसी सरकार के प्रवक्ता पिएरे हेनरी ब्रांडेट ने मीडिया को बताया है कि हमलावर ने सोची समझी साजिश के तहत पुलिसवालों को निशाना बनाया।

 

Pa

ISIS ने ली जिम्मेदारी

फ्रांस की मीडिया के मुताबिक आतंकी संगठन ISIS ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है। पेरिस प्रशासन का दावा है कि हमलावर की शिनाख्त कर ली गई है। हालांकि सरकार की ओर से उसकी पहचान जारी नहीं की गई है। लेकिन ISIS की समर्थक समाचार एजेंसी अमाक ने अपनी वेबसाइट पर आतंकी संगठन के हवाले से बयान छापा है जिसमें बंदूकधारी को संगठन का लड़ाका बताया गया है और उसका नाम अबू यूसुफ अल बलजिकी होने का दावा किया गया है।

पेरिस में उसके घर और पड़ोस की तलाशी ली जा रही है। पुलिस ये पता लगा रही है कि क्या हमले में और भी आतंकी शामिल थे। हमले के बाद पूरे फ्रांस में आतंकवाद रोधी अभियान छेड़ दिया गया है।

राष्ट्रपति चुनाव से पहले हमला

ये हमला फ्रांस में रविवार को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव से ठीक पहले हुआ है। हमले में मारे गए पुलिसवालों के सम्मान में 11 में से ज्यादातर उम्मीदवारों ने अपना प्रचार खत्म कर दिया है। फ्रांस में साल 2015 से अब तक आतंकी हमलों में 238 से ज्यादा लोग मारे जा चुके हैं। इनमें से ज्यादातर हमलों का जिम्मा ISIS ने लिया है। लिहाजा चुनाव में आतंकवाद सबसे बड़े मसलों में से एक है। दक्षिणपंथी उम्मीदवार मरीन ली पिन चुनाव में जीत की प्रबल दावेदार हैं। माना जा रहा है कि हमले से उन्हें फायदा हो सकता है।

दुनिया भर में निंदा

हमले की यूरोप और अमेरिका समेत दुनिया भर के देशों ने निंदा की है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने फ्रांस के लोगों को मजबूत और सचेत बने रहने की सलाह दी है. उन्होंने कहा, ' हम फ्रांस के लोगों के साथ संवेदना जाहिर करते हैं। ये एक और आतंकी हमला था। हम क्या कह सकते हैं? ऐसे हमले रुकने का नाम ही नहीं ले रहे। हमले के बाद ब्रिटेन की प्रधानमंत्री ने फ्रांसीसी राष्ट्रपति से बात कर संवेदना जाहिर की है।

देखिए पेरिस हमले का वीडियो

 

 

 


अभी अभी