नेशनल

फरार जाकिर नाईक का पासपोर्ट हुआ रद्द, आतंकियों की मदद का आरोप

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
136
| जुलाई 18 , 2017 , 19:27 IST | नई दिल्ली

विवादित इस्लामिक धर्म प्रचारक और इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन (आईआरएफ) के अध्यक्ष जाकिर नाईक को जारी भारतीय पासपोर्ट को रद्द करने का आदेश दिया गया है। सूत्रों के मुताबिक क्षेत्रीय पासपोर्ट कार्यालय ने जाकिर नायक के पासपोर्ट को रद्द करने का आदेश जारी किया है।

टेरर फंडिग और मनी लॉन्ड्रिंग की चल रही जांच

इससे पूर्व कट्टरपंथी प्रचारक जाकिर नाईक को उसका पासपोर्ट रद्द करने के संबंध में पासपोर्ट अथॉरिटी ने कारण बताओ नोटिस जारी किया था। गौरतलब है कि एनआईए की तरफ से जाकिर के खिलाफ आतंक और मनी लॉन्ड्रिंग के मामलों की जांच चल रही है। बता दें कि पिछले साल बांग्लादेश में एक आतंकी की तरफ से जाकिर के भाषण से प्रेरित होकर जिहाद छेड़ने का दावा करने के बाद जाकिर 1 जुलाई 2016 को देश छोड़कर भाग गया था।

Zakir 1

भारत सरकार ने आईआरएफ को घोषित किया है गैरकानूनी संगठन 

गौरतलब है कि एनआईए ने 18 नवंबर 2016 को गृह मंत्रालय के आदेशों पर भारतीय दंड संहिता की धारा 153 ए और गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) अधिनियम की धारा 10, 13 और 18 के तहत अपनी मुंबई शाखा में नाइक के खिलाफ एक आपराधिक मामला दर्ज किया था।

जाकिर नाइक के संगठन आईआरएफ को पहले से ही भारत सरकार द्वारा गैरकानूनी संगठन के रूप में घोषित किया गया है। नाइक के पास करीब 10 कंपनियां और 19 संपत्तियां मुंबई और पुणे में हैं, जिसमें नाइक ने 104 करोड़ रुपये का निवेश किया है।

 

 


कमेंट करें