नेशनल

मोदी बोले GST मतलब 'गुड एंड सिंपल टैक्स', इससे देश में आएगा आर्थिक सुधार

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
93
| जुलाई 1 , 2017 , 12:09 IST | नई दिल्ली

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) से देश को एक नए मुकाम पर पहुंचाने में मदद मिलेगी और इस उपलब्धि को किसी एक पार्टी या किसी एक सरकार की उपलब्धि के तौर पर नहीं देखा जाना चाहिए।

मोदी ने संसद के केंद्रीय सभागार में जीएसटी लांच करते हुए कहा कि, हम देश के उज्ज्वल भविष्य का मार्ग प्रशस्त करने पर विचार कर रहे हैं। हम जीएसटी के लांच के साथ आज मध्यरात्रि से एक नया अध्याय शुरू करने जा रहे हैं, जो किसी एक पार्टी या सरकार की उपलब्धि नहीं है बल्कि यह सामूहिक विरासत है। यह हमारे सामूहिक प्रयासों का नतीजा है।

मोदी ने जीएसटी को 'गुड एंड सिंपल टैक्स' कहते हुए कहा कि शुरुआत में थोड़ी समस्या होगी लेकिन उचित समय पर सभी इससे परिचित हो जाएंगे। मोदी ने लोगों से किसी भी तरह की अफवाहों पर ध्यान नहीं देने का आग्रह किया। इस मौके पर राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, उपराष्ट्रपति एम.हामिद अंसारी, मंत्रिमंडल के नेता और सासंद मौजूद थे।

मोदी ने कहा कि इस ऐतिहासिक कर सुधार से 'एक देश, एक कर' के सपने को साकार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि जीएसटी सिर्फ वित्तीय प्रणाली तक ही सीमित नहीं है बल्कि इससे सामाजिक सुधार भी होगा। मोदी ने कहा कि जीएसटी सामूहिक कार्य और सहकारी संघवाद का उदाहरण है।

पीएम ने अपने भाषण में प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू, सरदार पटेल, लोकमान्य तिलक, चाणक्य जैसी हस्तियों का जिक्र किया और कहा कि अगर सरदार पटेल ने देश की रियासतों को मिलाकर एक न किया होता तो देश का नक्शा कैसा होता। मोदी ने कहा कि सरदार पटेल ने देश के राष्ट्रीय एकीकरण का काम किया ठीक उसी तरह जीएसटी से आर्थिक एकीकरण का महत्वपूर्ण काम हो रहा है।

वीडियो देखें:-

(सौजन्य: लोकसभा टीवी और अराउंड तेलुगू)


कमेंट करें