राजनीति

मध्य प्रदेश के लिए शाह ने शुरू की तैयारी, जबलपुर में कार्यकर्ताओं को दिया चुनावी मंत्र

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 1
435
| जून 12 , 2018 , 20:26 IST

बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह अपने एक दिवसीय संगठनात्मक दौरे पर मध्य प्रदेश पहुंचे। इस दौरान अमित शाह ने जबलपुर में प्रदेश बीजेपी के पदाधिकारियों और चुनाव कमेटी के अधिकारियों के साथ बैठक की। शाह ने प्रदेश में इस साल के अंत में होने वाले विधानसभा और आगामी लोकसभा चुनाव की तैयारियों का जायजा भी लिया।

सोशल मीडिया के एजेंडे पर चर्चा

शाह ने प्रदेश चुनाव प्रबंधन समिति के साथ प्रदेश के विधानसभा चुनाव की रणनीति पर चर्चा की। इस दौरान बैठक में चुनिंदा 22 नेता ही मौजूद रहे। इस बैठक को काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है। शाह की दूसरी बैठक आईटी सेल के ढाई सौ कार्यकर्ताओं के साथ हुई, जिसमें चुनाव के दौरान सोशल मीडिया के एजेंडे पर चर्चा की गई।

बैठक से पहले शाह ने मध्यप्रदेश की जीवनदायिनी मां नर्मदा की पूजन-अर्चना की।

DffMMVIXkAEUMCN

शाह के साथ पार्टी महासचिव अनिल जैन भी मौजूद रहे। जैन पूर्व में भी शाह के साथ मध्य प्रदेश आते रहे हैं। शाह ने प्रदेश संगठन को जो जिम्मेदारियां दी थीं, वे सारी जैन के संज्ञान में हैं। मप्र को लेकर शाह की टीम ने प्रदेश के हर विधानसभा क्षेत्र में जाकर जो सर्वे किया था, उसका विश्लेषण भी जैन कर चुके हैं। वहीं बैठक में सौदान सिंह की रिपोर्ट से लेकर पार्टी के सर्वे पर विस्तार से चर्चा हुई। विधानसभा चुनाव लड़ने वाले प्रत्याशियों के चयन की गाइडलाइन भी फाइनल की गई। साथ ही संगठन के लिए चुनाव तक की दिशा तय की गई।

इन विधानसभा क्षेत्रों पर बीजेपी की नजर

बुंदेलखंड, महाकोशल और विंध्य के चार संभागों के 93 विधानसभा क्षेत्रों पर बीजेपी की विशेषष नजर है। बीते चुनाव में यहां की 63 सीट बीजेपी के खाते में आई थीं पर पार्टी को मिले फीडबैक में इन क्षेत्रों में मौजूदा विधायकों के प्रति नाराजगी है। इसी कारण कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के मंदसौर दौरे के ठीक बाद में शाह ने जबलपुर दौरा किया।

ऐसी तैयारी चाहते हैं शाह

शाह चाहते हैं कि दोनों चुनावों की तैयारी एक साथ की जाए। इसके पीछे बड़ी वजह यह है कि नवंबर-दिसंबर में मध्य प्रदेश समेत चार राज्यों के विधानसभा चुनावों को लेकर पार्टी के भीतर यह चर्चा हो रही है कि लोकसभा चुनाव के साथ इन राज्यों के भी चुनाव कराए जाएं।

इस पर सहमति बन जाती है तो चुनावी तैयारी उसी हिसाब से होगी। इसीलिए पहले से कमेटियों को बनाकर बीजेपी उनको सक्रिय करने की तैयारी में है।

अमित शाह चुनाव प्रबंधन कमेटियों से चर्चा करने के साथ-साथ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, नरेंद्र सिंह तोमर, पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह और संगठन महामंत्री सुहास भगत से किसान आंदोलन का फीडबैक भी लिया।

इस बार बीजेपी मध्‍य प्रदेश को लेकर काफी सचेत बनी हुई है और अमित शाह भी यहां की गतिविधियों पर अपनी खास नजर बनाए हुए हैं।


कमेंट करें