नेशनल

प्रद्युम्‍न केस: CBI ने कहा जुर्म कबूल लो नहीं तो भाई को मार देंगे- आरोपी छात्र

श्वेता बाजपेई, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
161
| नवंबर 14 , 2017 , 12:42 IST | नई दिल्ली

प्रद्युम्न मर्डर केस की गुत्थी आए दिन सुलझने की बजाय उलझती ही जा रही है। आरोपी छात्र ने सीबीआई को ही कटघरे पर लाकर खड़ा कर दिया है। सोमवार को आरोपी की काउंसिलिंग और उसके बयान लेने पहुंची बाल सुरक्षा एवं संरक्षण अधिकारी के सामने उसने कहा, 'मैंने प्रद्युम्न की हत्या नहीं की है। सीबीआई ने मुझसे यह जुर्म कबूल करने के लिए कहा है।'

रिपोर्ट के मुताबिक, सीपीडब्ल्यूओ रीनू सैनी के सामने आरोपी छात्र ने आरोप लगाया, 'सीबीआई ने मुझसे कहा कि यह जुर्म तुझे कबूल करना पड़ेगा। यदि ऐसा नहीं किया तो हम तेरे भाई की हत्या कर देंगे। मैं अपने भाई को बहुत प्यार करता हूं। उसे मरते हुए नहीं देख सकता। इसलिए सीबीआई वालों ने जैसा कहा, वैसा अब तक करता रहा हूं।' इसलिए इस तरह के दबाव के द्वारा उस जुर्म को कबूल करवाया गया जोकि उसने किया ही नहीं है।

बाल सुरक्षा अधिकारी ने जब एकांत में आरोपी से बात की तो आरोपी ने कहा कि सीबीआई ने उसका टॉचर किया है और धमकाया है। उसने प्रद्युम्‍न की हत्‍या नहीं की। आरोपी के बयान को बाल सुरक्षा एवं संरक्षण अधिकारी ने लिख लिया है। अब इस लिखित रिपोर्ट को जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड के पास भेजा जाएगा।

इसके साथ ही सीबीआई की मौजूदगी में आरोपी की परिजनों से एक घंटे तक मुलाकात कराई गई। इस दौरान मां किशोर के साथ लिपटकर रोती रही। छोटा भाई भी अपने आप को नहीं रोक सका और रोने लगा।

वहीं मृतक प्रद्युमन का परिवार अब आरोपी छात्र के खिलाफ कोर्ट का दरवाजा खटखटाने की तैयारी कर रहा है। परिवार की मांग है कि 11वीं क्लास के छात्र को बालिग मानकर केस की सुनवाई की जाए। पिता वरुण ठाकुर ने कहा कि हम लोग कोर्ट में एक याचिका देने पर विचार कर रहे हैं कि आरोपी को बालिग मानकर उसके खिलाफ सुनवाई की जाए।

वरुण ने कहा कि आरोपी छात्र ने जघन्य अपराध किया है। उसे उसी तरह सजा भी मिलनी चाहिए। इतना ही नहीं उन्होंने CBSE को खत लिखकर रेयान स्कूल की मान्यता रद्द करने की मांग की है, जिस पर अभी तक कोई जवाब नहीं आया है। उन्होंने कहा कि ने CBSE ने अपनी रिपोर्ट में साफ-साफ कहा था कि स्कूल के अंदर भयंकर कमियां पाई गईं।


कमेंट करें