खेल

1009 रन बनाने वाले प्रणव धनावड़े ने छोड़ा क्रिकेट! बताया गया था भविष्य का सचिन

अमितेष युवराज सिंह | न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
188
| दिसंबर 29 , 2017 , 16:13 IST

क्रिकेट का एक सितारा चमकने से पहले से बुझता नजर आ रहा है। आप सभी को प्रणव धनावड़े का नाम याद ही होगा। प्रणव धनावड़े ने 2016 में अंडर-16 क्रिकेट में 1009 रनों की पारी खेलकर सबको चौंका दिया था। इतना ही नहीं प्रणव की तुलना मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर से की जाने लगी थी। अब एक चौंकाने वाली खबर आई है कि उन्होंने केवल 16 साल की उम्र में क्रिकेट खेलना छोड़ दिया है। इसके पीछे का कारण बहुत हैरान करने वाला है। प्रणव ने डिप्रेशन के चलते क्रिकेट नहीं खेलने का फैसला लिया है। बताया जाता है कि खराब फॉर्म से परेशान होकर प्रणव ने क्रिकेट खेलना बंद कर दिया है।

प्रणव के पिता एक ऑटो रिक्शा ड्राइवर हैं। प्रणव ने जब 1009 रनों की मैराथन पारी खेली तो वह रातों रात क्रिकेट की दुनिया के सितारे बन गए थे। इसके बाद ही मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन ने उन्हें हर महीने 10 हजार रु. की स्कॉलरशिप देने का एलान  किया था।

Pranav-dhanawade

प्रणव के पिता ने भी इसके बाद एमसीए को एक पत्र लिखकर कहा है कि अभी प्रणव को दी जाने वाली स्कॉलरशिप बंद कर दी जाए। अगर वह अपनी फॉर्म फिर से हासिल कर ले तो वह इस स्कॉलशिप को फिर से चालू कर दे। दरअसल 1009 रनों की रिकॉर्ड तोड़ पारी खेलने के बाद प्रणव की बल्लेबाजी में अचानक से गिरावट आ गई। इसके बाद एमसीए ने अंडर-16 टीम से उन्हें बाहर कर दिया। इसके बाद प्रणव ने बेंगलुरु में अंडर-19 टीम के साथ भी ट्रेनिंग की लेकिन बेंगलुरू से लौटने के बाद भी प्रणव अपनी फार्म हासिल नहीं कर पाए।

Pranav3_148301221475

प्रणव के कोच मोबिन शेख के मुताबिक प्रणव का ध्यान ज्यादा मीडिया कवरेज के कारण भटक गया। इस दौरान जब वह खराब फॉर्म से जूझ रहे थे, तब उनकी आलोचना हुई, इस कारण उनकी सोच पर भी फर्क पड़ा। बेंगलुरु से लौटने के बाद एअर इंडिया और दादर यूनियन ने प्रणव को नेट प्रैक्टिस से भी रोक दिया। उनके कोच का कहना है कि वह, प्रणव को दोबारा खेलने के लिए प्रेरित करने की कोशिश कर रहे हैं। प्रणव अभी महज 16 साल के हैं और अभी उनके अंदर क्रिकेट बाकी है।


कमेंट करें