नेशनल

विदाई समारोह में बोले प्रणब दा: संसद में वरिष्ठ नेताओं से काफी कुछ सीखने को मिला

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
129
| जुलाई 23 , 2017 , 18:33 IST | नई दिल्ली

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को सांसदों की ओर से विदाई दी गई। संसद के सेंट्रल हॉल में विदाई कार्यक्रम आयोजित किया गया। प्रणब मुखर्जी के कार्यकाल खत्म होने में अब सिर्फ दो दिन का वक्त बचा है। नए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद 25 जुलाई को शपथ लेंगे।

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के विदाई समारोह में उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पूर्व पीएम मनमोहन सिंह, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी समेत सेट्रल हॉल में मंत्री और सांसद उपस्थित थे। 

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने विदाई समारोह पर अभिभाषण को संबोधित करते कहा कि इस शानदार विदाई समारोह के लिए संसद के दोनों सदनों का शुक्रिया अदा करता हूं।
उन्होंने कहा कि संविधान देश के 1 अरब भारतीयों का प्रतीक है। संसद ने मेरी राजनीतिक दृष्टि को आकार देने में अहम भूमिका निभाई है। संसद में पहले गंभीर बहस होती थी।

उन्होंनें अपने अभिभाषण के दौरान पूर्व पीएम इंदिरा गांधी को भी याद किया। उन्होंने कहा कि संसद में मेरे सोच और विचार को राजनीतिक आकार देने में इंदिरा गांधी की अहम भूमिका रही है।

राष्ट्रपति के विदाई कार्यक्रम में लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने विदाई भाषण दिया। इस दौरान उन्होंने राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के राजनीतिक करियर का बखान किया। साथ ही उनकी उपलब्धियां गिनाईं।

सुमित्रा महाजन ने सम्मान पत्र पढ़ा और कहा- प्रणब ने राष्ट्रपति के तौर पर आदर्शों की मिसाल पेश की। महाजन ने कहा कि हम सब आपके विदाई समारोह के लिए इकट्ठा हुए हैं। आपकी जिंदगी पश्चिम बंगाल के एक गांव से शुरू हुई। कॉलेज प्रोफेसर से आप राजनेता बने। और हर फील्ड में बेहद कामयाब रहे।

PM मोदी ने दी डिनर पार्टी

इससे पहले शनिवार को दिल्ली के हैदराबाद हाउस में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के सम्मान में डिनर पार्टी रखी। कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ने प्रणब मुखर्जी को स्मृति चिन्ह भेंट किया। देश के 13वें राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का कार्यकाल 24 जुलाई को खत्म हो रहा है। इस समारोह में नव-निर्वाचित राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के साथ मोदी कैबिनेट के मंत्री और एनडीए के सहयोगी दलों के नेता शामिल हुए।

25 जुलाई को शपथ लेंगे रामनाथ कोविंद

प्रणब मुखर्जी की विदाई के बाद 25 जुलाई को रामनाथ कोविंद का राष्ट्रपति भवन में स्वागत किया जाएगा। इसी दिन रामनाथ कोविंद संसद भवन के सेंट्रल हॉल में शपथ ग्रहण करेंगे। वह भारत के 14वें राष्ट्रपति होंगे।

विदाई समारोह के बाद राष्ट्रपति ने किया ट्वीट

 


कमेंट करें