नेशनल

सोमवार को होगा देश के महामहिम का चुनाव, इस बार खास पेन से होगी वोटिंग

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
89
| जुलाई 16 , 2017 , 20:37 IST | नई दिल्ली

देश के 14वें राष्ट्रपति के चुनाव की तैयारियां पूरी हो चुकी हैं तथा सोमवार को होने वाले मतदान में बीजेपी के नेतृत्व वाली राजग के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद की अपनी मुख्य प्रतिद्वंद्वी मीरा कुमार के खिलाफ जीत लगभग पक्की मानी जा रही है।

Kovind

रामनाथ कोविंद की दावेदारी मजबूत

निर्वाचक मंडल के कुल मतों की संख्या 10,98,903 है और राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के उम्मीदवार को 63 फीसदी से अधिक मत मिलने की संभावना है। बीजेपी के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद को कुछ क्षेत्रीय पार्टियों को छोड़कर राजग के करीब सभी घटक दलों का समर्थन प्राप्त है। वहीं मीरा कुमार को कांग्रेस सहित 17 मुख्य विपक्षी दलों का समर्थन हासिल है।

Meera

सुबह 10 बजे से लेकर शाम 5 बजे तक चलेगा मतदान

सोमवार को होने वाले मतदान की सारी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। मतदान संसद भवन और प्रत्येक राज्य की विधानसभाओं में सुबह 10.0 बजे से शाम 5.00 बजे तक होगा। संसद के दोनों सदनों तथा राज्य विधानसभाओं के निर्वाचित सदस्य राष्ट्रपति चुनाव में मतदान करेंगे, जिनमें राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) और केंद्र शासित पुदुचेरी के सांसद/विधायक भी शामिल हैं।

मतों की गणना 20 जुलाई को राष्ट्रीय राजधानी में होगी और उसी दिन शाम तक परिणाम घोषित कर दिए जाएंगे। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का कार्यकाल 24 जुलाई को समाप्त हो रहा है और नए राष्ट्रपति 25 जुलाई को पदभार ग्रहण करेंगे।

संसद के कमरा संख्या-62 में होगी वोटिंग

अधिकारियों ने बताया कि संसद भवन के कमरा संख्या-62 में मतदान केंद्र बनाया गया है तथा सांसद जिन राज्यों से चुनकर आए हैं, उसे आवंटित मेज संख्या के अनुसार मतदान करेंगे। अधिकारियों ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी मेज संख्या-6 पर मतदान करेंगे, क्योंकि तीनों उत्तर प्रदेश का प्रतिनिधित्व करते हैं। उन्होंने बताया कि संसद भवन में कुल छह मेजों पर मतदान होगा। जिन विधायकों ने दिल्ली में मतदान करने का विकल्प चुना है, वे मेज संख्या-1 पर अपना मत डालेंगे।

Pr house

राष्ट्रपति चुनाव में खास पेन से डाले जाएंगे वोट

सोमवार को होने वाले देश के अगले राष्ट्रपति पद के चुनाव में सांसद और विधायक अपनी पेन का इस्तेमाल नहीं कर सकेंगे, बल्कि मतदान के लिए वे खास तौर पर डिजाइन किए गए पेन का इस्तेमाल करेंगे। निर्वाचन आयोग ने रविवार को कहा कि किसी अन्य पेन से डाला गया मत अवैध करार दिया जाएगा।

पेन का होता है एक खास सीरियल नंबर

आयोग ने आम चुनावों में मतदाताओं की उंगलियों पर लगाई जाने वाली अमिट स्याही के आपूर्तिकर्ता मैसूर पेंट्स से बैंगनी रंग की स्याही वाले इस खास पेन को खरीदा है। इस पेन का अपना एक अद्वितीय सीरियल नंबर होता है तथा संसद और राज्य विधानसभाओं में मतदान करने से ठीक पहले मतदाता सांसद/विधायक को यह पेन दी जाएगी।

दूसरे पेन से नहीं डाला जा सकेगा वोट

राज्यसभा के लिए हुए मतदान के दौरान पिछले साल हरियाणा में उपजे विवाद के मद्देनजर निर्वाचन आयोग ने यह अनूठी पहल की है। पिछले साल सितंबर में कांग्रेस के 14 विधायकों के मत अवैध करार दे दिए गए थे, क्योंकि उन्होंने आधिकारिक तौर पर प्रदान की गई पेन की जगह किसी और पेन से मतदान कर दिया था।
निर्वाचन आयोग द्वारा जारी एक वक्तव्य में कहा गया है, "खास तौर पर डिजाइन की गई पेन हर जगह भेज दी गई है, ताकि मतदान के लिए सिर्फ आयोग द्वारा प्रदत्त उपकरणों का ही इस्तेमाल सुनिश्चित हो सके।"

 

 

 


कमेंट करें