राजनीति

PM मोदी की करुणानिधि से मुलाकात, तमिलनाडु में नए समीकरण की तलाश!

सतीश वर्मा, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
97
| नवंबर 6 , 2017 , 15:48 IST | चेन्नई

दक्षिण भारत की राजनीति में सोमवार को पीएम नरेंद्र मोदी के एक मूव ने राजनीतिक जानकारों को हैरत में डाल दिया। मोदी सोमवार को अपने चेन्नई दौरे के दौरान डीएमके चीफ करुणानिधि से मिलने पहुंचे। बता दें कि तमिलनाडु में बीजेपी को डीएमके की धुर विरोधी एआईएडीएमके का करीबी माना जाता है। डीएमके केंद्र सरकार की नीतियों की कट्टर आलोचक रही है। ऐसे में मोदी और करुणानिधि की यह मुलाकात हर किसी को हैरान कर रही है। मोदी ने करुणानिधि से मुलाकात ही नहीं की, बल्कि उन्हें दिल्ली में अपने आवास पर आने का न्योता भी दिया।

क्या तमिलनाडु में बीजेपी नए समीकरण तलाश रही है

इससे अटकलें लगाई जा रही हैं कि क्या तमिलनाडु में बीजेपी नए समीकरण तलाश रही है? हालांकि बीजेपी ने मोदी-करुणानिधि की मुलाकात पर ऐसी सभी अटकलों को खारिज किया है। बीजेपी ने इसे बस एक शिष्टाचार भेंट बताया है। डीएमके ने भी साफ किया कि इस मुलाकात का कोई राजनीतिक मायने नहीं निकाला जाए। सूत्रों के मुताबिक दोनों नेताओं के बीच करीब 10 मिनट तक बातचीत हुई। इस दौरान मोदी ने करुणानिधि को दिल्ली में उनके आवास पर आने का न्योता दिया और वहां आराम करने का आग्रह भी किया। बता दें कि राज्य के पूर्व सीएम और डीएमके अध्यक्ष करुणानिधि काफी समय से बीमार चल रहे हैं। पीएम मोदी के साथ रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और राज्य के बीजेपी चीफ भी मुलाकात करने पहुंचे थे।

Pm 1

मीडिया पर बरसे मोदी

अखबार के प्लैटिनम जुबली समारोह में उन्होंने कहा, ''महात्मा गांधी ने मीडिया को लोकतंत्र का चौथा स्तंभ कहा था। बेशक पत्रकारों से पास ताकत है, लेकिन इसका गलत इस्तेमाल अपराध है। मीडिया को राजनीति के अलावा दूसरे मुद्दों पर भी फोकस करना चाहिए।'' इसके पहले पीएम मोदी ने तमिलनाडु के सीएम पलानीसामी से मुलाकात की। दोनों के बीच चेन्नई समेत राज्य के कई हिस्सों में हो रही भारी बारिश और बाढ़ के हालात पर चर्चा हुई।

तमिल दैनिक के 75वीं वर्षगांठ पर गए थे पीएम

मोदी ने तमिल भाषा के समाचार पत्र 'दीना थांती' की 75वीं वर्षगांठ के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में शिरकत करने के बाद करुणानिधि से उनके गोपालपुरम स्थित निवास पर मुलाकात की। यह पहला मौका है, जब मोदी ने करुणानिधि से उनके निवास स्थान पर मुलाकात की। मोदी का यह दौरा ऐसे समय में हुआ है, जब स्टालिन केंद्र सरकार पर निशाना साध रहे हैं। स्टालिन ने केंद्र पर तमिलनाडु में समानांतर सरकार चलाने का आरोप लगाया है। उनका साथ ही कहना है कि मोदी के नेतृत्व वाली बीजेपी सरकार ने 2014 के लोकसभा चुनाव में किए गए वादों को पूरा नहीं किया। मोदी से मुलाकात के बाद वीलचेयर पर बैठे करुणानिधि घर के दरवाजे के पास आए और हाथ हिलाकर बाहर खड़े डीएमके कार्यकर्ताओं का अभिवादन स्वीकार किया।

Pm 2

स्टालिन से भी मिले मोदी

इससे पहले करुणानिधि के बेटे और पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष एम. के. स्टालिन और उनकी बहन तथा राज्यसभा सांसद कणिमोझी दरवाजे पर पीएम को रिसीव करने पहुंचे और फिर छोड़ने भी आए। दोनों नेताओं ने हाथ हिलाकर पीएम को विदा किया। पीएम मोदी सोमवार को चेन्नै के दौरे पर थे।

एआईएडीएमके में राजनीतिक कलह

गौरतलब है कि तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री जे. जयललिता के निधन के बाद एआईएडीएमके अब भी दो धड़ों में बंटी हुई है। पहला धड़ा सीएम पलनिसामी और ओ. पन्नीरसेल्वम के नेतृत्व वाला है, जबकि दूसरा धड़ा शशिकला के नेतृत्व वाला है। पलनिसामी और पन्नीर धड़े को एक करने में बीजेपी की भूमिका अहम मानी जाती है।

 

 


कमेंट करें