नेशनल

ट्रंप के साथ पीएम मोदी की पहली मुलाकात से भारत को क्या मिलेगा? पढ़ें पूरा एजेंडा

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
288
| जून 21 , 2017 , 20:02 IST | नयी दिल्ली

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के निमंत्रण पर दो दिवसीय विदेश यात्रा पर 25 जून को अमेरिका जा रहे हैं। 26 जून को होने वाली यह मुलाक़ात दोनों नेताओं की पहली मुलाक़ात होगी। इस मुलाक़ात के मुख्य मुद्दे आतंकवाद,यूएन रिफॉर्म्स  ,साउथ चाइना सी और क्लाइमेट चेंज रहेंगे। उम्मीद है कि प्रधानमंत्री मोदी भारतीय-अमेरिकी व्यापार संगठन (IACC) के वीज़ा (H1B) नियमों को और कड़े करने की स्थिति में भारतीय प्रद्योगिकी उद्योग पर प्रभाव, भारतीय नागरिकों के प्रति हिंसा से सम्बधित समस्यआओं पर भी चर्चा करेंगे।

Modi-trump

पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा का मानना था कि भारत की साझेदारी से चीन के एशिया में बढ़ते प्रभाव को नियंत्रित किया जा सकता हैं। ओबामा के कार्यकाल के दौरान भारत और अमेरिका के रिश्तों में बहुत सुधार एवं मज़बूती आयी थी। वही दूसरी ओर राष्ट्रपति ट्रंप नॉर्थ कोरिया के परमाणु कार्यक्रम को क़ाबू में रखने के लिये चीन से अमेरिका के सम्बन्ध बेहतर बनाने का प्रयास कर रहे हैं।

जनवरी के शुरू में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति ट्रंप के साथ हुई टेलीफोन पर हुई अपनी बातचीत को गर्मजोशी के साथ ट्वीट किया था। उसी समय, ट्रंप ने 'दुनिया भर में चुनौतियों का सामना करने में भारत को एक सच्चे दोस्त और सहयोगी' के रूप में जिक्र किया था। दोनों नेता भारत और अमेरिका के बीच द्विपक्षीय संबंधों को और विकसित करने को लेकर आश्वस्त थे।

Trump-and-Modi

पेरिस समझौते से अपने हाथ खींचते ही ट्रंप ने सीधे तौर पर भारत पर हमला करते हुए कहा कि इस समझौते का हिस्सा बनने की जरूरत के रूप में भारत ने 'अरबों अरब' की विदेशी सहायता एंठी है। लेकिन भारत ने इस बयान को नकार दिया, इय बयान से ट्रंप को भी कोई फ़ायदा नहीं हुआ। उनकी बातों की गंभीरता घटी। इस बात में कोई दो राय नहीं कि भारत और अमेरिका दोनों देश आतंकवाद से निपटने के लिए प्रतिबद्ध हैं। अमेरिका में मोदी ट्रंप के अलावा अमेरिकी कंपनियों के प्रमुखों से भी मिलेंगे।


कमेंट करें