नेशनल

4 जुलाई को इजरायल जाएंगे मोदी, मीडिया ने लिखा- जागो! सबसे अहम PM आ रहे हैं

अमितेष युवराज सिंह, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
79
| जून 28 , 2017 , 21:33 IST | नयी दिल्ली

इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के आमंत्रण पर नरेंद्र मोदी 4 से 6 जुलाई के बीच इजरायल जाएंगे। वह इजरायल का दौरा करने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री होंगे। इजरायल के उच्चायोग ने बुधवार को यह जानकारी दी। इजरायल के उच्चायोग द्वारा यहां जारी एक बयान में कहा गया,

दौरे में इजरायली राष्ट्रपति रूवेन रिवलिन से मुलाकात करेंगे व इजरायल के प्रधानमंत्री के साथ एक बैठक व रात्रिभोज शामिल है। इसमें उच्च स्तरीय द्विपक्षीय बैठक भी होगा व दूसरे घटकों को शामिल किया जाएगा जो भारत-इजरायल के संबंधों को जोड़ते हैं।

इसमें कहा गया, "किसी भारतीय प्रधानमंत्री की इजरायल की यह विशेष यात्रा भारत व इजरायल के कूटनीतिक संबंधों के 25 साल की पृष्ठिभूमि को पहचान देने के लिए की जा रही है और आगे इससे दोनों देशों के बढ़ते संबंधों को मजबूती मिलेगी।"

उनके इस दौरे को लेकर इजरायल में उत्साह का माहौल देखा जा सकता है। वहां के एक मशहूर अख़बार ‘द मार्कर’ ने इस दौरे से ऐन पहले मोदी को दुनिया का सबसे अहम प्रधानमंत्री कहा। अख़बार ने एक लेख में प्रधानमंत्री की तारीफ करते हुए लिखा ‘जागो! दुनिया के सबसे अहम प्रधानमंत्री आ रहे हैं'।

‘द मार्कर’ हिब्रू भाषा का एक बिजनेस डेली है। इसमें भारत के साथ इजरायल के संबंधों पर एक लेख लिखा गया है। इस लेख में कहा गया कि इजरायल की जनता ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से उनके इजरायल दौरे को लेकर काफी उम्मीदें लगा रखी थीं लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ।

Pti6_7_2016_000004b_kuma

इसी लेख में ये कहा गया है कि सवा सौ करोड़ लोगों के नेता पीएम मोदी पूरी दुनिया में काफी लोकप्रिय हैं। साथ ही सबसे तेजी से बढ़ रही अर्थव्यवस्था वाले देश के प्रतिनिधि मोदी इतने सक्षम हैं कि पूरी दुनिया आज उनकी ओर देखने को मजबूर है।

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नेतन्याहू ने 25 जून को ट्वीट के जरिए इस यात्रा की घोषणा की थी। इसमें उन्होंने कहा था कि अगले सप्ताह भारतीय प्रधानमंत्री मेरे दोस्त नरेंद्र मोदी इजरायल आएंगे। यह इजरायल का ऐतिहासिक दौरा है।

भारत के विदेश मंत्रालय ने अपने बयान में कहा,

भारत ने इजरायल के साथ 1992 में कूटनीतिक संबंध स्थापित किए थे और तब से आज तक यह संबंध बहुआयामी भागीदारी में विकसित हुआ है।

बयान में कहा गया है, "इस साल दोनों देश अपने कूटनीतिक संबंधों का 25वां साल मना रहे हैं और प्रधानमंत्री का दौरा आपसी हित के द्विपक्षीय संबंधों को प्रोत्साहन देगा।" विदेश मंत्रालय के अनुसार, मोदी के कार्यक्रम में हैफा में भारतीय कब्रिस्तान में भारतीय जवानों को श्रद्धांजलि देना व तेल अवीव में भारतीय समुदाय को संबोधित करना शामिल है। हैफा भारतीय कब्रिस्तान में प्रथम विश्वयुद्ध के 49 राष्ट्रमंडल सैनिकों की कब्र है। तेल अवीव स्थित भारतीय उच्चायोग के अनुसार, इजरायल में भारतीय मूल के 85,000 यहूदी हैं।


कमेंट करें