नेशनल

स्वामी प्रसाद मौर्य का बयान बना योगी सरकार का सिरदर्द, हटाने के लिए हो रहा है प्रदर्शन

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
481
| जुलाई 9 , 2017 , 17:59 IST | लखनऊ

अपने विवादित बयानों को लेकर चर्चा में रहने वाले प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य एक बार फिर सुर्खियों में हैं। यूपी के रायबरेली में पाँच ब्राह्मणों की नृशंस हत्या मामले पर मौर्य ने बयान देते हुए कहा है कि घटना में मरे पांचों शातिर अपराधी थे। जिसके बाद से मौर्य के खिलाफ प्रदेश भर में प्रदर्शन शुरू हो गया है। इसी कड़ी में मौर्या के बयान से गुस्साये स्वर्ण भारत परिवार ने लखनऊ में विरोध प्रदर्शन किया।

19866329_1572064406198870_159054781_n

विरोध कर रहे स्वर्ण भारत के राष्ट्रीय अध्यक्ष पीयूष पंड़ित का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक हमलावरों की खूंखार नीयत का खुलासा हुआ है कि किस तरह पाँच लोगों मे से 2 के हाथ पैर काटकर फ़िर उन्हें गाड़ी में डालकर आग लगा दी गयी। बर्बता का आलम ये था कि बुरी तरह जलने से रोहित का एक हाथ व एक पैर गायब है। बृजेश के दोनों हाथ और दोनों पैर जलने से गायब हुए हैं। दोनों लाशों पर कोई ब्लड़ ऑब्जेक्ट के निशान नहीं मिले हैं। इस प्रकरण से ब्राह्मण समाज स्वयं को असुरक्षित महसूस कर रहा है। हमारा सरकार से निवेदन है पीड़ित परिवार को सुरक्षा मुहैया करवाई जाए।

उन्होंने कहा कि सरकार के कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य पहले गौरी-गणेश की पूजा का विरोध और हिन्दू देवी-देवताओं का मजाक उड़ाते थे। अब अपराधराधियों को संरक्षण देने जैसी बातें करते हैं कि मारे गये युवक अपराधी थे। जबकि उनका कोई भी अपराध साबित नहीं हुआ है। उनके ऐसे बयानों से अपराधियों का मनोबल बढ़ता है। इसलिये हम सरकार से निवेदन करते हैं कि स्वामी प्रसाद मौर्य को जल्द से जल्द मंत्री पद से बर्खास्त किया जाए।

19965029_1572066769531967_1408967320_n

प्रदर्शनकारियों के अनुसार उत्तर प्रदेश में ब्राह्मणों को निशाना बनाकर पीट-पीट कर मौत के घाट उतारा जा रहा है और प्रदेश सरकार इस पर अंकुश लगाने के लिए कारगर कदम नही उठा रही। यदि सरकार ने अपराधियों के खिलाफ़ कठोर कार्यवाही नही की तो ब्राह्मण समाज इससे भी बड़ा आन्दोलन करने के लिये सड़कों पर उतरने के लिये बाध्य होगा।


कमेंट करें