राजनीति

राजस्थान में गरजे राहुल- GST के लिए रात में संसद चलती है पर किसानों के लिए 1 मिनट बोलने नहीं देते

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
134
| जुलाई 19 , 2017 , 15:05 IST | नई दिल्ली

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी आज राजस्थान के बंसवारा जिले में 'किसान आक्रोश रैली' को संबोधित करने के लिए पहुंचे। इस दौरान वो बीजेपी की केंद्र और राज्य सरकार पर जमकर बरसे। बंसवारा के गुरु गोविंद सिंह कॉलेज के मैदान में हुई इस रैली को संबोधित करते हुए राहुल ने कहा कि इस देश को पहचान हिंदुस्तान के किसानों ने दिलाई है। लेकिन आज सरकार किसानों की नहीं सुन रही है। राजस्थान के किसानों की हालत काफी खराब है, लेकिन सरकार किसानों की नहीं सुनती। पीएम मोदी ने देश के युवाओं से जो वादा किया था उसे पूरा नहीं किया है। 

राहुल गांधी की बड़ी बातें....

संसद में मुझे एक मिनट भी बोलने नहीं दिया गया। 

राजस्थान में किसानों की हालत बेहद खराब

राजस्थान के किसानों को फसलों की सही कीमत नहीं मिल रही है

लेकिन किसानों की बात कोई नहीं कर रहा है

मोदी ने युवाओं से किए वादे पूरे नहीं किए

हमने पंजाब कर्नाटक में कर्जमाफी की

कांग्रेस की वजह से यूपी में बीजेपी ने किसानों का कर्ज माफ किया

आज किसानों की कोई नहीं सुनता

हमने कहा जीएसटी में कमियां है, लेकिन सरकार ने हमारी नहीं सुनी

सचिन पायलट राजस्थान में कांग्रेस की नुमाइंदे हैं

सरकार सिर्फ 10-15 उध्योगपतियों के लिए काम कर रही है

इस मौके पर राजस्थान प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट, पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, राष्ट्रीय महासचिव सीपी जोशी, राजस्थान प्रभारी अविनाश पांडे सहित कई बड़े नेता मौजूद थे। कांग्रेस ने इस रैली का सफल बनाने के लिए काफी तैयारी की थी।

यह किसान आक्रोश रैली राजस्थान में आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए आयोजित किया गया था। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट का कहना है कि राहुल गांधी किसानों की पीड़ा सुनने और सरकार तक पहुंचाने के लिए यहां आ रहे हैं, क्योंकि सरकार किसानों की स्थिति सुधारने के लिए कुछ नहीं कर रही है। 

कांग्रेस की ओर से जारी बयान के मुताबिक, राहुल इसके बाद गुजरात, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में रैलियां करेंगे। मध्यप्रदेश में डेढ़ माह में 45 किसान आत्महत्या कर चुके हैं और छह किसानों को पुलिस गोलियों से भून चुकी है, जबकि छत्तीसगढ़ में 15 दिनों में 12 किसान आत्महत्या कर चुके हैं।


कमेंट करें