राजनीति

गुजरात दौरे के आखिरी दिन मंदिरों में गए राहुल, गांववालों के साथ किया भजन कीर्तिन

कुलदीप सिंह, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
89
| अक्टूबर 11 , 2017 , 18:50 IST | दाहोद

गुजरात दौरे के आखिरी दिन बुधवार को कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी दाहोद जिले के सलैया गांव पहुंचे। गांव में राहुल ने गांववालों के साथ मंदिर में भजन कीर्तिन किया। राहुल अब तक गुजरात और यूपी में करीब 16 बार मंदिरों की यात्रा कर चुके हैं।


मंदिर जाने के मामले में राहुल ने नरेंद्र मोदी को पीछे छोड़ दिया है। बता दें कि गुजरात में इस साल के आखिर में विधानसभा चुनाव होने हैं। मोदी-शाह ने किया विकास को पागल, कांग्रेस इसे पागलखाने के बाहर लाएगी। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने राज्य में अपने चुनावी कैम्पेन की शुरुआत 25 सितंबर को द्वारकाधीश मंदिर से की थी। वे मंगलवार को छोटा उदैपुर जिला पहुंचे थे, जहां उन्होंने आदिवासियों के साथ 'टिमली' डांस किया था।
राहुल ने दौरे के आखिरी दिन भी सत्तारूढ़ बीजेपी के खिलाफ आक्रामक तेवर जारी रखा। उन्होंने आरोप लगाया कि नरेंद्र मोदी और अमित शाह ने राज्य में विकास को पागल कर दिया है जिसे उनकी पार्टी विधानसभा चुनाव में जीत के बाद पागलखाने से बाहर लाएगी।

राहुल ने यह भी दावा किया कि गुजरात में बीजेपी ऊपर से शांत दिख रही है, पर असल में इसके पैर के नीचे से जमीन खिसक गई है क्योंकि मोदी जी की इमेज पर भरोसा जताने वाली जनता अब उनकी सच्चाई समझ गई है।


डोनेशन वालों को नहीं मिलती नौकरी

राहुल चुनाव के मद्देनजर अपनी नवसर्जन गुजरात यात्रा के दूसरे फेज के आखिरी दिन दाहोद जिले के आदिवासी बहुल देवगढ़ बारिया पहुंचे। वहां एक सभा में उन्होंने कहा कि गुजरात में 5 से 10 लाख डोनेशन देकर कॉलेज में एडमिशन लेने वाले स्टूडेंट्स को पढ़ने के बाद नौकरी नहीं मिलती। लिहाजा ऐसी एजुकेशन सिस्टम का क्या मतलब है?
- "डोनेशन की रकम 5-10 इंडस्ट्रियलिस्ट्स ले जाते हैं। सरकार कहती है कि नौकरी नहीं है। ये इंडस्ट्रियलिस्ट्स 1000 करोड़ के घर में रहते हैं और बड़ी-बड़ी गाड़ियों में चलते हैं। गुजरात में 30 लाख बेरोजगार युवा हैं।"


कमेंट करें