नेशनल

VIP कल्चर पर रेलवे का प्रहार, स्टाफ से घरेलू काम नहीं करा सकेंगे अधिकारी

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
250
| अक्टूबर 8 , 2017 , 19:58 IST

एक के बाद एक हादसों के बीच रेल मंत्रालय ने रेलवे की हालत को सुधारने के लिए एक कड़ा कदम उठाया है। इसके तहत रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों से घर और दफ्तर में मेहनत करने को कहा गया है। इस फैसले से रेलवे के बड़े अधिकारियों के ऑफिस और घर में चल रहे वीआईपी कल्चर पर मंत्रालय की गाज गिरने जा रही है। अभूतपूर्व फैसले के तहत मंत्रालय ने 36 साल पुराने उस प्रोटोकॉल को खत्म कर दिया है, जिसके तहत रेलवे बोर्ड चेयरमैन और बोर्ड मेंबर्स के जोनल विजिट के दौरान जनरल मैनेजर्स को उनके आगमन और विदाई पर प्रस्तुत होना पड़ता था।

इसके साथ ही वरिष्ठ अधिकारियों से दो टूक कह दिया गया है कि अब वे स्टाफ से घरेलू कामकाज कराना तुरंत बंद कर दें। रेलवे बोर्ड ने 1981 के सर्कुलर को खत्म कर दिया है। इस सर्कुलर के तहत नियमों को जरूरी किया गया था। इसको लेकर 28 सितंबर को एक आदेश जारी किया गया, जिसमें रेलवे को निर्देश दिया गया और कहा गया है कि बोर्ड चेयरमैन और सदस्यों को दिए जाने वाला प्रोटोकॉल खत्म किया जाता है। साथ ही किसी भी बोर्ड के सदस्य को गिफ्ट से नहीं नवाजा जाएगा।

Railway_GPramod_Firstpost

वरिष्ठ अधिकारियों को ना केवल कार्यस्थल पर नए आदेश का पालन करने को कहा गया है, बल्कि सभी वरिष्ठ अधिकारियों से उन रेलवे कर्मचारियों को मुक्त करने को कहा है जो अभी उनके घरेलू कामकाज में लगाए गए थे। आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक करीब 30,000 ट्रैकमैन वरिष्ठ अधिकारियों के घर पर काम करते हैं। उन्हें तुरंत ड्यूटी जॉइन करने का आदेश दिया गया है। सूत्रों के अनुसार एक महीने में करीब 6000 से लेकर 7000 अधिकारी काम पर लौट चुके हैं।


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव प्रोड्यूसर हैं

कमेंट करें