नेशनल

हंगामे के बीच राज्यसभा में तीन तलाक बिल पेश, क्या लगेगी मुहर!

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
117
| जनवरी 3 , 2018 , 15:22 IST

राज्यसभा में बुधवार को तीन तलाक बिल को लेकर भारी हंगामा होने के आसार हैं। पहले यह बिल मंगलवार को ही राज्यसभा में आना था, लेकिन विपक्षी दलों में आम राय नहीं हो पाने के कारण सरकार ने इसे मंगलवार को पेश करना उचित नहीं समझा।

सरकार इस बिल को आगे बढ़ाने के लिए पूरी तरह तैयार है। बता दें कि सदन के दोनों पक्षों के बीच इस मामले में तीन साल की सजा को लेकर असहमति है।

एक सीनियर मिनिस्टर ने कहा, 'यदि इसे कमिटी को जाना है तो इस पर वोटिंग होनी चाहिए।' वहीं विपक्षी दलों का दावा है कि बीजेपी इस मामले पर अलग-थलग हो गई है।


एक विपक्षी नेता ने कहा, 'एनडीए इस पर 80 से ज्यादा वोट पाने में सफल नहीं होगी और टीडीपी और एआईएडीएमके जैसे बीजेपी के कुछ सहयोगी इस बिल को लेकर ज्यादा उत्सुक नजर नहीं आ रहे हैं।'

सरकार के एक मंत्री ने कहा, 'कानून को समय के साथ बेहतर किया जा सकता है, लेकिन इसे स्टैंडिंग कमिटी को भेजा जाना वही गलती होगी, जो राजीव गांधी सरकार ने शाह बानो मामले में की थी।' लेफ्ट और एसपी जैसी कुछ क्षेत्रीय पार्टियां बिल को लेकर अपना विरोध जाहिर कर चुकी हैं।

1153402-3x2-940x627

ऐसे में अब पूरा फोकस कांग्रेस पर आ गया है। माना जा रहा है कि कांग्रेस भी अन्य विपक्षी पार्टियों का ही साथ देगी। कांग्रेस इस बिल में तुरंत तलाक पर आपराधिक प्रावधान के खिलाफ है, लेकिन लोकसभा में उनके दल ने इस पर कोई खास तवज्जो नहीं दी थी।

इस मामले पर सबकी नजरें कांग्रेस पर टिकी हुई हैं। लेफ्ट पार्टियां पिछले कुछ समय से इस मामले पर कांग्रेस के साथ बातचीत में लगी हैं। लेफ्ट पार्टियों की मांग है कि इस बिल को सेलेक्ट कमिटी को भेजा जाए। ऐसे में सेक्युलर मोर्चे की तरफ से इस मामले को लेकर कांग्रेस पर दबाव बढ़ सकता है।

कांग्रेस पार्टी का फैसला ही अब इस बिल का भविष्य तर सकता है। ऊपरी सदन में सरकार के पास बहुमत नहीं है। वहीं विपक्षी पार्टियां ऐसे कई मोर्चों पर नरेंद्र मोदी सरकार का विरोध करने के लिए एकजुट हो चुकी हैं। ऐसे में कांग्रेस पार्टी पर भी इस मुद्दे को लेकर काफी दबाव है।

 


कमेंट करें