मनोरंजन

कास्टिंग काउच पर राखी के बोल-'लड़कियां खुद कहती हैं, 'कुछ भी कर लो, बस काम दे दो'

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
905
| मई 1 , 2018 , 11:23 IST

अपने बेबाक बयानों के लिए चर्चित एक्ट्रेस राखी सावंत एक बार फिर सुर्ख़ियों में छाई हुई है। बॉलीवुड में कास्टिंग काउच को लेकर इन दिनों काफी बहस चल रही है। इस मुद्दे पर आऐ दिन कोई न कोई सेलेब्रिटी विवादित बयान देककर मीडिया की सुर्खियों शामिल होते दिख रही हैं। इस बहस के बीच सरोज खान, रेणुका चौधरी और शत्रुघ्‍न सिन्‍हा के बाद अब राखी सावंत भी शामिल हो गई हैं।

कास्टिंग काउच पर राखी सावंत ने अजीबो-गरीब बयान दिया है।

राखी ने खुद को कास्टिंग काउच का शिकार बताया है, उन्होंने बताया हालांकि वे इसके चंगुल में नहीं फंसी। राखी ने आगे बताया, जब मैं एक स्ट्रगलर थी, तभी मुझे इससे गुजरना पड़ा। लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि जिस भी डायरेक्टर और प्रोड्यूसर के पास मैं गई वे सभी वैसे ही थे। जिंदगी के अन्य पहलुओं के जैसे ही बॉलीवुड इंडस्ट्री में भी उत्पीड़न होता है। जब मुझे इसके बारे में पता चला, तब मैं एक न्यूकमर थी। लेकिन मुझमें टैलेंट था और मैंने हार नहीं मानी। मैंने 'नो' कहना सीखा, और एक कलाकार की तरह अपनी प्रतिभा का इस्तेमाल किया।

न्यूकमर और स्ट्रगलर को सलाह देते हुए राखी ने कहा कि वे धीरज रखें और सफलता पाने के शॉर्टकट की तरफ न भागें। राखी इस दौरान मशहूर कोरियोग्राफर सरोज खान के बयानों से सहमत नजर आईं, जिसमें उन्होंने कहा था कि ताली एक हाथ से नहीं बजती है। कोई भी इस फिल्म इंडस्ट्री में दुष्कर्म नहीं करता है, ये सभी आपसी सहमति से होता है। राखी ने कहा कि इस मामले में मैं पूरी तरह से सरोज खान जी को सपोर्ट करती हूं। कम से कम उन्होंने अपने दिमाग का इस्तेमाल कर सही कहा है और पूरी दुनिया को सच्चाई से रूबरू करवाया है। बॉलीवुड के लोग कास्टिंग काउच पर सच बोलने से बचते हैं, भले ही वो उनकी आंखों के सामने ही हो रहा हो। वे सोचते हैं कि वे किसी के काम में टांग क्यों अड़ाएं।

राखी ने आगे कहा कि सरोज खान ने जो देखा है वही कहा है, उन्हें पता है कि यहां क्या हो रहा है। मैं उनसे पूरी तरह से सहमत हूं। आज की लड़कियां अपने करियर में आगे बढ़ने के लिए किसी भी तरह का समझौता करने के लिए तैयार होती हैं। आज कल तो लड़कियां कहती हैं कुछ भी कर लो, मुझे काम दे दो। इसमें प्रोड्यूसर की क्या गलती है। इसलिए सरोज जी गलत नहीं हैं। आज बहुत सारी लड़कियां फिल्म इंडस्ट्री में हीरोइन बनने आती हैं लेकिन बन कुछ और जाती हैं। आप समझ रहे हैं कि मैं क्या कह रही हूं। मैंने कई सारी लड़कियों को प्रोड्यूसर्स को खुद को सौंपते देखा है। ये सही नहीं है। मैं किसी का नाम नहीं लेना चाहती हूं। लेकिन ऐसा होता है। ऐसा नहीं होना चाहिए। प्रियंका चोपड़ा और सलमान खान आज अपने टैलेंट के कारण सुपरस्टार्स हैं न कि किसी और कारणों से।

जो शॉर्टकर्ट अपनाते हैं वे किसी दूसरे ट्रैक पर चले जाते हैं। अपने साथ ये कभी न करें। और जब आप प्रोड्यूसर को खुद ऑफर कर रहे हों तो उन्हें कभी गलत न ठहराएं। राखी ने आगे कहा कि ये केवल लड़कियों के साथ नहीं होता है, लड़कों को भी फिल्म और फैशन इंडस्ट्री में ऐसी ही चीजों का सामना करना पड़ता है। मैं स्ट्रगलर्स से बार-बार यही कहना चाहूंगी कि कभी भी हालात से समझौता न करें। इसके साथ ही वे कहती हैं- लेकिन वे क्या करेंगे, मुंबई है ही इतना महंगा शहर। मैं बॉलीवुड को बदनाम नहीं करना चाहती हूं, लेकिन क्योंकि सरोज खान ने अपनी आवाज उठाई है इसलिए मैं उन्हें समर्थन दे रही हूं।

गौरतलब है, सांगली में एक कार्यक्रम के दौरान सरोज खान ने कास्टिंग काउच के मुद्दे पर कहा था कि यह तो हमेशा से चलता आ रहा है और फिल्म इंडस्ट्री भी इससे अछूता नहीं है।

उन्होंने कहा था कि यह कम से कम रोजगार तो उपलब्ध कराता है। उन्होंने बाद में हालांकि अपने बयान के लिए माफी मांगी थी और कहा था कि वह सिर्फ यह कहना चाह रही हैं कि हर क्षेत्र में यह समस्या है तो ऐसे में केवल फिल्म इंडस्ट्री को ही इस पर कठघरे में खड़ा करना कहां तक जायज है।


कमेंट करें