नेशनल

6 दिन की पुलिस रिमांड पर भेजी गई हनीप्रीत, अदालत में हाथ जोड़कर फूट-फूट कर रोई

श्वेता बाजपेई, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
211
| अक्टूबर 4 , 2017 , 16:57 IST | पंचकूला

दंगा फैलाने के आरोप में राम रहीम की करीबी हनीप्रीत को 6 दिन की पुलिस रिमांड में भेज दिया गया है। हनीप्रीत के साथ गिरफ्तार की गई एक अन्य महिला को भी 6 दिन की रिमांड में भेजा है। हनीप्रीत मंगलवार को गिरफ्तार हुई थी। हनीप्रीत को पंचकूला की जिला अदालत में पेश कर दिया गया। पुलिस ने हनीप्रीत की 14 दिन की रिमांड की मांग की थी। लेकिन अदालत ने उसे सिर्फ 6 दिन की रिमांड दी है।

कोर्ट में पेशी के दौरान हनीप्रीत हाथ जोड़ कर खड़ी रही। इस दौरान हनीप्रीत कई बार रोई। कोर्ट में हनीप्रीत ने कहा कि मैं निर्दोष हूं। जब हनीप्रीत से पूछा गया कि फिर 38 दिनों तक भाग क्यों रही थीं। तो उसने जवाब दिया कि ये जिस तरह से मेरे पीछे पड़े थे, मुझे तो अपनी जान बचानी ही थी।

हनीप्रीत सलवार-सूट पहनी हनीप्रीत ने मुंह ढक रखा था। हनीप्रीत के पहुंचने से पहले ही उसकी बहन और वकील प्रदीप आर्य अदालत में पहुंच चुके थे। कोर्ट के बाहर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए थे। सुनवाई के दौरान हरियाणा पुलिस ने हनीप्रीत को रिमांड में देने की मांग की। वहीं हनीप्रीत के वकील ने पुलिस की इस मांग का विरोध किया।

पुलिस ने दलील दी कि 25 अगस्त को हनीप्रीत के पास मोबाइल था। फरारी के दौरान भी वो मोबाइल साथ रहा। उस मोबाइल को तलाशने के लिए रिमांड चाहिए।

पंचकूला कमिश्नर एस के चावला ने भी मंगलवार को ही कह दिया था कि कोर्ट में पुलिस अपना पक्ष रखेगी और हनीप्रीत का रिमांड मांगेगी, क्योंकि पुलिस को हनीप्रीत से कई राज उगलवाने हैं। पूरे मामले से जुड़ी कई जानकारियां चाहिए।

वहीं हनीप्रीत के वकील ने दलील पर बहस करते हुए कहा कि कोर्ट रूम में मीडिया को आने की इजाजत नहीं होनी चाहिए। हनीप्रीत पर राजद्रोह का केस भी नहीं बनता। बता दें कि हनीप्रीत के केस की पैरवी वकील एस के गर्ग नरवाना कर रहे हैं। हनीप्रीत के दिल्ली वाले वकील प्रदीप आर्य भी मौजूद हैं। हनीप्रीत की बहन भी पहुंची हुई थीं।

गौरतलब है कि ह​रियाणा पुलिस ने हनीप्रीत को मंगलवार दोपहर बाद करीब तीन बजे जीरकपुर से दो किलोमीटर दूर जीरकपुर-पटियाला रोड पर एक गुरुद्वारे के पास स्थित रिजॉर्ट के बाहर से गिरफ्तार किया। हनीप्रीत इनोवा कार में सवार होकर पटियाला की तरफ जा रही थी। पुलिस ने उसके साथ कार में सवार एक अन्य महिला को भी गिरफ्तार किया है। महिला का नाम सुखदीप है और वह बठिंडा की रहने वाली है।

जानकारी के मुताबिक, लगभग 2:45 बजे डीसीपी कार्यालय में एक मैसेज आया और एसीपी मुकेश मल्होत्रा पुलिसकर्मियों के साथ जीरकपुर की तरफ निकल पड़े। तीन बजकर दस मिनट पर पुलिस कमिश्नर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर हनीप्रीत की गिरफ्तारी की सूचना दी। इस तरह 38 दिन से फरार हनीप्रीत को पुलिस ने 15 मिनट में दबोच लिया। गिरफ्तारी के बाद हनीप्रीत को चंडीमंदिर थाने ले जाया गया।

हनीप्रीत को गिरफ्तार करते ही पुलिस ने उससे पूछताछ शुरू कर दी। सूत्रों के मुताबिक, देर रात साढ़े 3 बजे तक पुलिस हनीप्रीत से सवाल पूछती रही। देर रात ही उसकाऔर उसके साथ पकड़ी गई महिला का मेडिकल कराया गया, लेकिन इस दौरान हनीप्रीत रोती रही। हनीप्रीत से एसआईटी, पुलिस आयुक्त पंचकूला एएस चावला, आईजी ममता सिंह सहित अनेक वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने हनीप्रीत से पूछताछ की।


कमेंट करें