नेशनल

राम मंदिर विवाद: श्री श्री रविशंकर ने यूपी सीएम योगी से की मुलाकात, कल जाएंगे अयोध्या

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
127
| नवंबर 15 , 2017 , 10:34 IST | लखनऊ

आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक श्री श्री रविशंकर ने अयोध्या मुद्दे के समाधान के लिए अपनी कोशिशें तेज कर दी हैं। इसी क्रम में रविशंकर ने बुधवार को यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की। समझा जा रहा है कि रविशंकर ने सीएम के साथ इस विवाद के समाधान के तरीकों पर बात की। बता दें कि अयोध्या विवाद को सुलझाने के लिए रविशंकर पहल कर रहे हैं। आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक 16 नवंबर को अयोध्या जाकर राम मंदिर मामले से जुड़े सभी पक्षकारों से मुलाकात करेंगे। इनमें दिगंबर अखाड़ा, निर्मोही अखाड़ा, राष्ट्रीय मुस्लिम मंच, शिव सेना, हिंदू महासभा के अलावा विनय कटियार से भी मुलाकात का भी कार्यक्रम है। इस मामले में हालांकि उनकी मध्यस्थता को लेकर सवाल भी उठ रहे हैं। 

गौरतलब है कि सीएम आदित्यनाथ ने मंगलवार को यूपी में निकाय चुनाव अभियान की शुरुआत के दौरान कहा था कि वह अयोध्या विवाद सुलझाने के लिए आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक श्री श्री रविशंकर की पहल की भी सराहना करते हैं। उन्होंने कहा कि किसी भी स्तर पर बातचीत से विवाद को सुलझाने के प्रयास की तारीफ की जानी चाहिए। श्री श्री के आज कई अन्य संगठनों के प्रतिनिधियों से भी मिलने की उम्मीद है। 

सोमवार को अयोध्या पहुंचे श्री श्री रविशंकर के प्रतिनिधि के मुताबिक श्री श्री 16 नवंबर को सड़क मार्ग से अयोध्या पहुंचेंगे। उन्होंने कहा, 'मैंने हिंदू और मुस्लिम पक्षकारों से मिलकर श्री श्री के अयोध्या दौरे के उद्देश्य के बारे में जानकारी दे दी है। श्री श्री गुरुवार को सुबह 11 बजे अयोध्या पहुंचेंगे। वह सीधे मणिराम छावनी जाएंगे और वहां राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्यगोपाल दास से मुलाकात करेंगे। इसके बाद वह न्यास के सदस्य डॉ. रामविलास वेदांती के अलावा मस्जिद के पैरोकार स्वर्गीय हाशिम अंसारी के बेटे इकबाल अंसारी से मुलाकात करेंगे।' 

इससे पहले राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद में पक्षकारों के बीच समझौते की मुहिम चला रहे अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि ने आध्यात्मिक गुरु श्री श्री रविशंकर को निशाने पर लिया था। नरेंद्र गिरि ने कहा कि वह संत नहीं हैं, जो उनकी बात को मान ही लिया जाए। उन्होंने कहा था कि राम मंदिर बनवाना रविशंकर के बस की बात नहीं। इस बात के प्रयास हो रहे हैं कि इस मामले को बातचीत के आधार पर सुलझा लिया जाए, लेकिन अब तक गलत व्यक्तियों से बात हुई है इस कारण समाधान नहीं निकल पा रहा है। 

Art-of-living,-video_647_011917031528_042017115526

नरेंद्र गिरि ने सोमवार को इलाहाबाद में ऐलान किया था कि राम मंदिर के मामले में शिया वक्फ बोर्ड के साथ सुलह-समझौते को लेकर गतिरोध खत्म हो गया है। शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन सैयद वसीम रिजवी ने सोमवार को अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेन्द्र गिरि से इलाहाबाद में मुलाकात की थी। इस मुलाकात के बाद रिजवी ने कहा कि, अयोध्या राम की धरती है और वहां राम का ही मंदिर बनेगा। 

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरि ने कहा, 'समझौते का ड्राफ्ट (मसौदा) 15-16 नवंबर तक सुप्रीम कोर्ट में दाखिल कर दिया जाएगा। समझौते के ड्राफ्ट पर हस्ताक्षर होने के बाद इसे अदालत को सौंपा जाएगा। पूरी उम्मीद है कि हम इसे 15-16 नवंबर तक न्यायालय में दाखिल कर देंगे।' 


कमेंट करें