अभी-अभी

क्रैश टेस्‍ट में फेल हो गई बिना एयरबैग वाली रेनो 'डस्टर', मिली ज़ीरो रेटिंग (वीडियो)

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
117
| मई 10 , 2017 , 19:14 IST | नई दिल्ली

ग्‍लोबल नई कार असेसमेंट प्रोग्राम (एनसीएपी) द्वारा कि‍ए गए दूसरे क्रैश टेस्‍ट परि‍णाम में बि‍ना एयरबैग के साथ बि‍कने वाले रेनो डस्‍टर एसयूवी के बेसि‍क वेरि‍एंट (एसटीडी) को नि‍राशाजनक जीरो रेटिंग दी गई है। यह 0 रेटिंग व्‍यस्‍क सवारी (एडल्‍ट ऑक्‍युपेंट) प्रोटेक्‍शन के लि‍ए दी गई है।

आपको बता दें, इस क्रैश टेस्‍ट को ग्लोबल एनसीएपी द्वारा सेफर कार्स फॉर इंडिया कैंपेन 2017 के तहत किया गया था। यह टेस्ट भारत में बेची जा रही डस्‍टर के बेसिक वेरिएंट एसटीडी और आरएक्सई वेरिएंट पर किया गया। बिना एयरबैग के यह साबित हो गया कि यह कार किसी भी तरह से सेफ नहीं है। जैसा कि आप इस तस्वीर में देख सकते हैं कि टेस्ट के बाद इसमें बैठे डमी यात्री का क्या हाल हुआ। लेकिन पिछली सीट में बच्चों के लिए दिए गए प्रोटेक्‍शन में यह दो अंक हासिल करने में सफल रही।

Crash-test_1494411670

लेकिन एक एयरबैग के साथ आ रही डस्टर आरएक्सएल क्रैश टेस्‍ट में थोड़ा बेहतर साबित हुई। चाइल्ड प्रोटेक्‍शन में भी इस कार ने बढ़िया प्रदर्शन किया और अंक बटोरे। लैटिन एसीएपी में 2015 में इस कार ने सिंगल एयरबैग के साथ 4 अंक बटोरे थे लेकिन यहां के ग्लोबल एनसीएपी में अपने इन्वेस्‍टीगेशन में पाया कि यहां की डस्‍टर कंपनी जो एयरबैग प्रयोग कर रही है वह लैटिन अमेरिका में बिकने वाली डस्टर के एयरबैग से छोटा है।

ग्लोबल एनसीएपी ने यह भी पाया कि भारतीय डस्टर में लगा एयरबैग जब फूला तो वह ड्राइवर के सिर के संपर्क में नहीं आया जो कि होना चाहिए था, इसके वजह से दुर्घटना में ज्यादा चोट लगने की संभावना रहती है।

 

047

जबकि लैटिन अमेरिका में हुए टेस्‍ट में देखा गया था कि उसमें लगे एयरबैग ने बहुत ही अच्छे तरीके से ड्राइवर के सिर व चेस्ट को कवर किया था। एनसीएपी के अनुसार कंपनी को वही एयरबैग यहां भी लगाना चाहिए जो ड्राइवर को सुरक्षित करे सिर्फ खानापूर्ती के लिए एयरबैग का प्रयोग घातक हो सकता है। 

Renault-duster-cayenne-orange

देखिये वीडियो


कमेंट करें