राजनीति

छापेमारी से बौखलाए लालू समर्थकों ने बीजेपी दफ्तर पर किया हमला, जमकर हुई पत्थरबाजी

icon कुलदीप सिंह | 0
145
| मई 17 , 2017 , 16:03 IST | पटना

पटना स्थित भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेश कार्यालय पर बुधवार को राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के कार्यकर्ताओं ने हमला कर दिया। इस क्रम में दोनों पक्षों के बीच झड़प हुई, जिसमें एक दर्जन से ज्यादा लोगों के घायल होने की खबर है। पुलिस के अनुसार, पटना के वीरचंद पटेल पथ स्थित भाजपा के प्रदेश कार्यालय पर राजद कार्यकर्ताओं ने हमला कर दिया। इस हमले में कई गाड़ियों के शीशे टूट गए और कई लोग घायल हो गए।



भाजपा विधायक नितिन नवीन ने बताया,

धरना को लेकर कई कार्यकर्ता पार्टी कार्यालय पहुंचे थे। इसी बीच 100-150 की संख्या में राजद कार्यकर्ता भाजपा कार्यालय पहुंच गए और पथराव करने लगे, जिसमें कई कार्यकर्ताओं को चोटें आई हैं। कई गाड़ियों के शीशे भी टूट गए।



आपको बात दें कि प्रदरअशन के दौरान दोनों दलों के कार्यकर्ता एक-दूसरे से उलझ गए। बाद में पुलिस के अधिकारियों ने पहुंचकर मामले को नियंत्रण में किया। क्षेत्र में अभी भी तनाव बना हुआ है। भाजपा नेताओं का कहना है कि लालू प्रसाद के खिलाफ आयकर विभाग के छापे को लेकर राजद कार्यकर्ता बौखला गए हैं।



भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय ने कहा कि-

यह राजद की कायरतापूर्ण करतूत है। भाजपा हिंसा में विश्वास नहीं करती। वह इस भ्रष्टाचार की लड़ाई में हार नहीं मानेगी।



राजद प्रवक्ता मनोज झा ने कहा,

युवा राजद के कुछ कार्यकर्ता शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे थे। उन पर भाजपा कार्यकर्ताओं ने पहले पत्थरबाजी की। राजद कार्यकर्ताओं ने भी उसका जवाब दिया होगा।


उल्लेखनीय है कि इस क्षेत्र में विरोध-प्रदर्शन करना प्रतिबंधित है।

भाजपा नेता सुशील मोदी ने इस घटना को शर्मनाक बताते हुए कहा कि सभी घायलों को इलाज के लिए स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस प्रशासन के संरक्षण में राजद कार्यकर्ताओं ने भाजपा कार्यालय पर हमला किया। उन्होंने कहा कि यह हमला खीझ का परिणाम है और वह पुलिस महानिदेशक से मिलकर पूरे मामले की जानकारी देंगे। उल्लेखनीय है कि लालू प्रसाद और उनके परिवार की बेनामी संपत्ति और बिहार में बढ़े बिजली बिलों के विरोध में भाजपा की ओर से पूरे प्रदेश में महाधरना का आयोजन किया गया है।


author
कुलदीप सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में कार्यकारी संपादक हैं

कमेंट करें