इंटरनेशनल

म्यांमार में फिर भड़की हिंसा, सेना के जवानों ने बच्चों पर चलाई गोलियां

ललिता सेन, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
153
| सितंबर 5 , 2017 , 13:33 IST | यांगून

म्यांमार में 25 अगस्त से भड़की हिंसा ने विकराल रूप ले लिया है। रोहिंग्या मुसलमान और सुरक्षाबलों के बीच हुए संघर्ष में अब तक 200 से ज्यादा लोग मारे जा चुके हैं। विद्रोहियों ने पिछले दो दिनों में उत्तरी म्यांमार के गांवों के सैकड़ों मकानों को आग के हवाले कर दिया है। एक सरकारी समिति ने मंगलवार को यह जानकारी दी।

समाचार एजेंसी के मुताबिक, विद्रोहियों ने औकप्युमा गांव में सुरक्षा बलों के साथ झड़प होने के बाद 50 घरों को आग के हवाले कर दिया और औंता गांव में भी 120 घर फूंक डाले। दिंगार, सॉकीनामा और होंटारया में विस्फोटक उपकरणों में विस्फोट करके 90 से ज्यादा घरों को आग के हवाले कर दिया गया।

11

चश्मदीदों ने बताया कि पश्चिमी राखीन राज्य में बार्म की सेना और पैरामिलिटरी फोर्स बच्चों को गोली मार रही है। चश्मदीद ने बताया कि मेरे भाई को मार दिया गया है। सैनिकों ने उसे समूह के साथ जिंदा जला दिया।

Myamma

विद्रोहियों ने उत्तरी राखिने में 25 अगस्त को 30 पुलिस चौकियों पर हमले किए थे। 31 अगस्त तक 52 से ज्यादा हमले हुए, जिनमें 13 सुरक्षाकर्मी मारे गए। हमलों के दौरान भागने की कोशिश कर रहे सात हिंदू और पांच दैंगनैत जाति के लोगों सहित 14 नागरिक मारे गए।

बता दें कि, राखिने राज्य के करीब 38,000 मुसलमान कथित तौर पर बांग्लादेश की सीमा की ओर पलायन कर गए हैं।


कमेंट करें